मल्टीमीडिया डेस्क। श्रीलंका के हाथों पिछले दिनों इंग्लैंड की हार के साथ ही आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल की दौड़ रोमांचक हो गई। इस मैच से पहले तक चार टीमें स्पष्ट तौर पर अंतिम चार में पहुंचती नजर आ रही थी लेकिन अब तीन अन्य टीमें भी सेमीफाइनल की होड़ में शामिल हो गई। इस वक्त अंक तालिका पर नजर डाले तो तीन टीमें आसानी से सेमीफाइनल में पहुंचती नजर आ रही है जबकि चौथे स्थान के लिए अब चार टीमें होड़ में हैं।

न्यूजीलैंड और भारत वर्ल्ड कप में अभी तक अपराजेय है और इन दोनों को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए ज्यादा परेशानी नहीं होनी चाहिए। इनके अलावा ऑस्ट्रेलिया भी आसानी से अंतिम चार में पहुंच सकता है। सेमीफाइनल की चौथी टीम के लिए इंग्लैंड, बांग्लादेश, पाकिस्तान और श्रीलंका होड़ में हैं।

1. न्यूजीलैंड (11 अंक, 6 मैच) :

मैच शेष : (पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड)

न्यूजीलैंड टीम इस वर्ल्ड कप में धमाकेदार प्रदर्शन कर रही है और 6 मैचों के बाद अपराजेय बनी हुई है। टीम का भारत के खिलाफ मैच वर्षा की भेंट चढ़ा था और वह अंक तालिका में शीर्ष पर है। कीवी टीम शेष तीन मैचों में से कोई एक मैच भी जीत ले तो उसका सेमीफाइनल में प्रवेश पक्का हो जाएगा। वैसे तीनों मैच हारने की स्थिति में भी यह टीम सेमीफाइनल में पहुंच सकती है लेकिन उस स्थिति में उसे दूसरे मैचों के परिणामों पर निर्भर रहना होगा।

2. ऑस्ट्रेलिया (10 अंक, 6 मैच)

मैच शेष : (इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका)

गत विजेता ऑस्ट्रेलियाई टीम वर्ल्ड कप के दौरान अचानक फॉर्म में आ गई। स्टीव स्मिथ, डेविड वॉर्नर और मिचेल स्टार्क की वापसी से टीम के प्रदर्शन में जबर्दस्त सुधार आया। टीम यदि दो मैच जीत लेगी तो सेमीफाइनल में स्थान सुरक्षित हो जाएगा। टीम एक मैच जीतने की स्थिति में भी सेमीफाइनल में पहुंच सकती है लेकिन यदि श्रीलंका ने तीनों मैच जीते तो उसके भी 12 अंक हो जाएंगे। ऐसे में बेहतर नेट रनरेट को ध्यान में रखा जाएगा।

3. भारत (9 अंक, 5 मैच)

मैच शेष : (वेस्टइंडीज, इंग्लैंड, बांग्लादेश, श्रीलंका)

भारत के सेमीफाइनल में पहुंचने के उजले अवसर है। चारों मैच जीतने की स्थिति में उसके 17 अंक हो जाएंगे और वह शीर्ष दो टीमों में शामिल रहेगा। चार मैचों से दो मैच जीतने पर भी उसका सेमीफाइनल में स्थान पक्का रहेगा। भारत का नेट रनरेट अच्छा है, इसलिए वह शेष बचे चार मैचों में से एक मैच जीतकर भी अंतिम चार में पहुंच सकता है बशर्ते इंग्लैंड तीन में से एक मैच ही जीत पाए और श्रीलंका भी दो मैच ही जीते।

4. इंग्लैंड (8 अंक, 6 मैच)

मैच शेष : (ऑस्ट्रेलिया, भारत, न्यूजीलैंड)

पाकिस्तान और श्रीलंका जैसी कमजोर टीमों के खिलाफ हार की वजह से इंग्लैंड की सेमीफाइनल की राह मुश्किल हो गई है। खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में देखी जा रही मेजबान टीमों को शेष बचे तीन मैचों में से दो मैच जीतने होंगे लेकिन इन टीमों के खिलाफ उसका रिकॉर्ड खराब रहा है। वह पिछले 27 सालों में वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया, भारत और न्यूजीलैंड को हरा नहीं पाया है। सेमीफाइनल की संभावनाओं को बनाए रखने के लिए उसके कम से कम 11 अंक होने चाहिए।

5. बांग्लादेश (7 अंक, 7 मैच)

मैच शेष : (भारत, पाकिस्तान)

बांग्लादेश को भारत और पाकिस्तान जैसी मजबूत टीमों से खेलना होगा और सेमीफाइनल की संभावनाओं को बनाए रखने के लिए उसे दोनों मैच जीतने होंगे। उसकी राह आसान नहीं होगी लेकिन वह इससे पहले वर्ल्ड कप में इन दो टीमों को हरा चुका इसके अलावा उसे अन्य मैचों के परिणामों पर भी निर्भर रहना होगा।

6. श्रीलंका (6 अंक, 6 मैच)

शेष मैच (दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज, भारत)

श्रीलंका के सेमीफाइनल में पहुंचने की संभावनाएं क्षीण है। उसे सेमीफाइनल की दावेदारी के लिए शेष बचे तीनों मैच जीतने होंगे। इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम को हराने की वजह से उसके हौंसले बुलंद होंगे लेकिन उसकी राह आसान नहीं होगी। द. अफ्रीका और पाकिस्तान की टीमें भी उसका खेल बिगाड़ना चाहेंगी। टीम को लसिथ मलिंगा से उम्मीदें रहेंगी।

7. पाकिस्तान (5 अंक, 6 मैच)

मैच शेष : (न्यूजीलैंड, अफगानिस्तान, बांग्लादेश)

पाकिस्तान के लिए इस वर्ल्ड का सफर उतार-चढ़ाव वाला रहा है। वेस्टइंडीज के हाथों करारी हार के बाद उसने इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम को हराया। परंपरागत प्रतिद्वंद्वी भारत के हाथों मिली हार से आलोचनाएं झेलनी पड़ी और अब उसे सेमीफाइनल की दावेदारी के लिए शेष तीनों मैच जीतने होंगे। इसमें न्यूजीलैंड के खिलाफ उसका मैच महत्वपूर्ण रहेगा क्योंकि यह टीम फॉर्म में है और अपराजेय चल रही है। पाकिस्तान को इस मैच में धमाकेदार प्रदर्शन करना होगा।