नई दिल्ली। भारतीय ओपनर शिखर धवन आईसीसी टूर्नामेंट्स में शानदार प्रदर्शन करते रहे हैं और उन्हें विश्वास हैं कि इंग्लैंड में 30 मई से होने वाले आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में भी जबर्दस्त प्रदर्शन करेंगे।

धवन ने इंग्लैंड में 2013 और 2017 चैंपियंस ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया था और उन्हें विश्वास है कि वे इस प्रदर्शन को दोहराएंगे। वे ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में 2015 में हुए विश्व कप में भी भारत के सबसे सफल बल्लेबाज थे। उन्होंने कहा, हां इस बारे में बात होती हैं लेकिन मैं हर मैच के लिए समान तरीके से तैयारी करता हूं। मेरा फोकस हमेशा प्रोसेस पर रहता है।

33 वर्षीय धवन ने आईपीएल 2019 में शानदार प्रदर्शन किया और वे दिल्ली कैपिटल्स के लिए 521 रन बनाकर इस टी20 लीग में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में चौथे क्रम पर रहे। उन्होंने कहा, मुझ पर कोई दवाब नहीं है, शांत और बैखोफ बने रहने की मेरी खासियत है। आलोचक अपना काम करते रहते हैं, यदि मैं 5-10 मैचों में ज्यादा रन नहीं बना पाया तो सब कुछ खत्म नहीं हो जाता है।

128 इंटरनेशनल वनडे में 16 शतकों की मदद से 5355 रन बना चुके धवन ने कहा, मैं टीवी नहीं देखता हूं और पेपर भी नहीं पढ़ता हूं, इसलिए मेरे बारे में क्या बात चल रही है इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है। मैं फेसबुक और ट्विटर पर हूं लेकिन यदाकदा ही उनका उपयोग करता हूं। मेरे जीवन में नकारात्मकता के लिए कोई जगह नहीं है। यदि आपको लगातार बाहरी दुनिया से प्रमाण की आवश्यकता लगेगी तो आप दलदल में उलझते रहोगे। मैं अपने जीवन में ऐसी कोई बात नहीं चाहता हूं।

धवन ने कहा कि दिल्ली कैपिटल्स टीम के डगआउट में रिकी पोंटिंग और सौरव गांगुली की उपस्थिति से उन्हें लाभ मिला। इन दोनों दिग्गजों ने बताया कि धवन की तकनीक में कोई समस्या नहीं है। ये दोनों चैंपियन तैयार करने के लिए जाने जाते हैं।