मल्टीमीडिया डेस्क। विश्व कप क्रिकेट के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ जब टीम इंडिया गहरे संकट में थी, तब रविंद्र जडेजा ने धमाकेदार पारी खेली। वे आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए विश्व कप में फिल्टी लगाने वाले देश के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। इससे पहले 1999 के विश्व कप में नयन मोंगिया ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 28 रन बनाए थे। न्यूजीलैंड के खिलाफ इस मैच में जडेजा ने तब रन बनाए जब टीम इंडिया को बहुत ज्यादा जरूरत थी। वे हार्दिक पांड्या के आउट होने पर क्रीज पर आए थे, तब टीम इंडिया का स्कोर 30.3 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 92 रन था। जडेजा ने आउट होने से पहले 59 गेंदों का सामना करते हुए 77 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 4 चौके और 4 छक्के लगाए।

जडेजा ने इस मैच में 5 साल बाद वनडे फिफ्टी लगाई। पिछली बार उन्होंने सितंबर 2014 में इतने रन बनाए थे।अर्द्धशतक लगाते ही जडेजा ने तलवारबाजी वाले अंदाज में बल्ला लहराया और आलोचकों को जवाब दिया। इससे पहले गेंदबाजी में भी जडेजा ने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने 10 ओवर में महज 34 रन देकर 1 विकेट लिया। एक शानदार कैच पकड़ा और एक डायरेक्ट थ्रो से रन आउट किया।

बता दें, पिछले दिनों पूर्व क्रिकेटर और वर्ल्ड कप में कमेंट्री कर रहे संजय मांजरेकर ने जडेजा की आलोचना की थी और उन्हें कच्चा खिलाड़ी बताया था। तब जडेजा ने मांजरेकर को जवाब देते हुए ट्वीट किया, 'इसके बावजूद मैंने आपकी तुलना में दोगुने मैच खेले और मैं अब भी खेल रहा हूं। जिन्होंने उपलब्धि हासिल की है उन खिलाड़ियों का सम्मान करना सीखें। मैंने आपकी काफी बकवास सुन ली है।'