बेंगलुरु। भारत की सीमित ओवरों की टीम में जगह पक्की नहीं रहने के बाद कार्यवाहक टेस्ट कप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा कि वे बेंगलुरु टेस्ट के बाद सिलेक्टर्स से चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि वे आगामी इंग्लैंड दौरे की तैयारी के मद्देनजर यह बातचीत करेंगे।

भारत-अफगानिस्तान टेस्ट के बाद भारत की सीमित ओवरों की टीम इंग्लैंड दौरे पर जाएगी। भारत इंग्लैंड दौरे की शुरुआत तीन मैचों की टी20 सीरीज और तीन मैचों की वनडे सीरीज से करेगा। इसके बाद 1 अगस्त से टेस्ट सीरीज खेली जानी है। बेंगलुरु टेस्ट के बाद डेढ महीने तक क्या करेंगे, इस सवाल के जवाब में रहाणे ने कहा- मैं इस बारे में सिलेक्टर्स से चर्चा करूंगा। मैं मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में अभ्यास शुरू करूंगा।

हम अफगानिस्तान टीम को हल्के में नहीं लेंगे

रहाणे ने कहा कि भले ही अफगानिस्तान की टीम टेस्ट डेब्यू करने वाली है लेकिन हम उन्हें कमजोर नहीं आकेंगे क्योंकि उनके ‍पास कई अच्छे खिलाड़ी मौजूद हैं। क्रिकेट फनी गेम है इसके चलते हम टेस्ट क्रिकेट में किसी भी विपक्षी टीम को हल्के में नहीं ले सकते हैं। हमारे लिए मैदान पर उतरकर 100 प्रतिशत प्रदर्शन करना आवश्यक होगा।

दिनेश कार्तिक की तरफ रहाणे ने भी अफगानी स्पिनर असगर स्टेनिकजाई की उस बात को ज्यादा तुल नहीं दिया कि उनके स्पिनर भारतीय स्पिनरों से श्रेष्ठ हैं। उन्होंने कहा, हमारी टीम के हर सदस्य का मानना है कि अफगानिस्तान की टीम अच्छी है। अश्विन, जडेजा और कुलदीप अनुभवी स्पिनर है। उन्होंने कहा कि माइंडसेट बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है।