मल्टीमीडिया डेस्क। टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक जीत के बाद भारतीय टीम को शनिवार से वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया का सामना करना है। ऑस्ट्रेलिया का वनडे फॉर्मेट में भारत के खिलाफ रिकॉर्ड शानदार रहा है। टीम इंडिया की मुश्किलें इसलिए बढ़ गई है क्योंकि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर उसका इस छोटे फॉर्मेट में रिकॉर्ड बहुत ही खराब रहा है। वह इस मैदान पर ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ दो बार ही हरा पाया है।

भारत ने 71 साल में पहली बार टेस्ट सीरीज ने ऑस्ट्रेलिया को पहली बार उसके घर में शिकस्त थी जब पिछले दिनों विराट कोहली की टीम इंडिया ने सीरीज 2-1 से अपने नाम की थी। इस जीत से उत्साहित विराट के जांबाजों को अब वनडे सीरीज में कंगारुओं की चुनौती का सामना करना है। टेस्ट सीरीज की जीत और महेंद्रसिंह धोनी जैसे धुरंधर के जुड़ने से भारतीय टीम अब इस मोर्चे पर भी फतह पाना चाहेगी।

वनडे में ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड बेहतर: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अभी तक कुल 128 वनडे मैच खेले जा चुके हैं जिनमें से ऑस्ट्रेलिया ने 73 और भारत ने 45 मैच जीते हैं। इनके 10 मैच बेनतीजा रहे थे। वैसे भारत के लिए अच्छी बात यह है कि इनके बीच हुए पिछले 6 मैचों में से भारत ने 5 मैचों में जीत दर्ज की थी।

ऑस्ट्रेलिया में इनके बीच दूसरी बार होगी सीरीज : भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच यह 10वीं द्विपक्षीय वनडे सीरीज होगी। अभी तक हुई 9 वनडे सीरीज में से ऑस्ट्रेलिया ने 5 और भारत ने 4 सीरीज जीती हैं। ऑस्ट्रेलिया में यह इन टीमों के बीच दूसरी सीरीज होगी। वहां इनके एकमात्र वनडे सीरीज 2015-16 में हुई थी जिसे ऑस्ट्रेलिया ने 4-1 से जीता था।

सिडनी में खराब रिकॉर्ड : सिडनी में टीम इंडिया का रिकॉर्ड बहुत खराब रहा है और वह यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले 16 मैचों में से मात्र 2 मैचों में ही जीत दर्ज कर पाया था। एक मैच का परिणाम नहीं निकला था।

ऑस्ट्रेलिया अपने घर में हावी : ऑस्ट्रेलिया का अपने घर में वनडे में भारत के खिलाफ रिकॉर्ड शानदार रहा है। इन दोनों टीमों के बीच हुए 48 मैचों में से कंगारू टीम ने 35 मैच जीते जबकि भारत 11 मैच ही जीत पाया है। दो मैचों का कोई परिणाम नहीं निकला।