एडिलेड। चेतेश्वर पुजारा को यदि भारतीय टीम का नया राहुल द्रविड़ कहें तो गलत नहीं होगा। पुजारा और द्रविड़ के आंकड़े साबित कर रहे हैं कि दोनों के बीच मैजिक कनेक्शन है। लिहाजा ये कहा जा सकता है कि पुजारा मौजूदा टीम इंडिया के नए द वॉल यानि द्रविड़ हैं।

पुजारा ने 123 रनों की शानदार पारी खेली जिससे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के पहले टेस्ट में भारतीय पारी उबर पाई। पुजारा की पारी से न केवल टीम संकट से बाहर आईं बल्कि ये पारी व्यक्तिगत रुप से भी उनके लिए रिकॉर्ड भरी रही। पुजारा ने यहां अपने करियर का 16वां शतक जमाया। लेकिन ऑस्ट्रेलिया में ये उनका पहला शतक है। इसके अलावा पुजारा ने टेस्ट करियर के 5000 हजार रन भी पूरे किए।

5000 रन पूरे करने के साथ ही पुजारा और द्रविड़ आपस में ऐसे कनेक्ट हुए कि हर कोई चौंक जाए। आंकड़े बताते हैं कि पुजारा के 3000 रन 67 पारियों में पूरे हुए। इतनी ही पारियां द्रविड़ ने भी 3000 हजार रन बनाए थे। इसके बाद पुजारा के 4000 रन 84 पारियों में पूरे हुए। इसे संयोग ही कहा जाएगा कि द्रविड़ के 4000 रन भी 84 पारियों में पूरे हुए थे। इतना ही नहीं एडिलेड टेस्ट के पहले दिन अपनी पारी में जब पुजारा 99 रनों पर पहुंचे तो उन्होंने टेस्ट करियर के 5000 रन पूरे किए। ये पुजारी 108वीं पारी थी। द्रविड़ से पुजारा का मैजिक कनेक्शन यहां भी जारी रहा क्योंकि द्रविड़ के 5000 रन भी 108 पारियों में ही पूरे हुए थे। ये महज संयोग नहीं कहा जा सकता।

पारी की शुरुआत करने उतरे चेतेश्वर पुजारा दिन के अंत तक क्रीज पर रहे। दिन का खेल समाप्त होने से सिर्फ 2 ओवर एक गेंद पहले वे 123 के निजी स्कोर पर रन आउट हुए। उनके आउट होते ही अंपायरों ने दिन के खेल समाप्ति की घोषणा कर दी।