हैमिल्टन। भारत को गुरुवार को न्यूजीलैंड के हाथों चौथे वनडे में 8 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा। भारत की पारी को 92 रनों पर समेटने के बाद न्यूजीलैंड ने 14.4 ओवरों में 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया। भारत की यह गेंद शेष रहते वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ी हार है। कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि इस हार के लिए खिलाड़ी खुद जिम्मेदार हैं।

विराट को आराम दिए जाने के कारण रोहित शर्मा ने इस मैच में टीम की कमान संभाली, यह उनका 200वां वनडे मैच भी था। हार के बाद रोहित ने कहा, यह बल्लेबाजी में टीम का लंबे अंतराल बाद खराब प्रदर्शन है। हमें ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी और इसके लिए न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को श्रेय दिया जाना चाहिए। जब गेंद स्विंग हो रही हो तो बल्लेबाजों को दबाव सहन करना होता है। इस हार के लिए हम खुद ही दोषी हैं। बल्लेबाजों को जिम्मेदारीभरा प्रदर्शन करना चाहिए था। यदि हम थोड़ी देर क्रीज पर टिकते तो परिस्थितियां आसान हो जाती।

रोहित ने कहा, हमने कुछ खराब शॉट्स भी खेले। जब गेंद स्विंग होती हैं तो बल्लेबाजों के लिए चुनौती बढ़ जाती हैं। टीम कई सीरीज से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही थी इसके चलते सभी को पता है कि इस मैच में क्या गलत हुआ। जब हम अपने देश के लिए खेल रहे होते है तो हमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होता है।

ताश के पत्तों की तरह बिखर गई भारत की पारी :

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत की पारी 30.5 ओवरों में 92 रनों पर सिमट गई। भारत के सिर्फ चार बल्लेबाज दोहरी रन संख्या में पहुंच पाए। ट्रेंट बोल्ट ने 21 रनों पर 5 विकेट लिए। कोलिन डी ग्रैंडहोम ने 26 रनों पर 3 विकेट लिए। इसके जवाब में न्यूजीलैंड ने 14.4 ओवरों में 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया। रॉस टेलर 37 और हैनरी निकोल्स 30 रन बनाकर नाबाद रहे। न्यूजीलैंड ने 212 गेंद शेष रहते भारत को हराया जो भारत की गेंद शेष रहते सबसे बड़ी हार है।