सेंचुरियन। टीम इंडिया शनिवार से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में धमाकेदार प्रदर्शन कर अपनी चुनौती को बनाए रखना चाहेगा। केपटाउन टेस्ट हार चुके भारत को अब सुपरस्पोर्ट पार्क में खेलना है, जहां दक्षिण अफ्रीका का जबर्दस्त रिकॉर्ड रहा है। द. अफ्रीका इस मैच को जीतकर सीरीज में अपराजेय बढ़त बनाने के इरादे से मैदान में उतरेगा, जबकि भारत की निगाहें सीरीज में बराबरी पर टिकी रहेगी। भारतीय प्रबंधन के संकेतों के अनुसार टीम में दो-तीन बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के बावजूद भारत को पहले टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका के हाथों 72 रनों से हार झेलनी पड़ी थी। सेंचुरियन दक्षिण अफ्रीकी टीम का मजबूत किला रहा है और यहां उसने 22 टेस्ट मैचों में से 17 में जीत दर्ज की जबकि मात्र 2 में हार मिली है। भारत समेत सभी एशियाई टीमों को यहां मेजबान टीम के हाथों पारी के अंतर से हार झेलनी पड़ी हैं। द. अफ्रीका ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के पूर्व जिम्बाब्वे से चार दिनी टेस्ट मात्र दो दिनों में जीत लिया था। द. अफ्रीका इस मैदान पर लगातार तीन टेस्ट मैच जीत चुका है।

इसके मद्देनजर विराट की टीम इंडिया को दूसरे टेस्ट मैच में चमत्कारिक प्रदर्शन करना होगा। पहले टेस्ट की हार के बाद विराट ने कहा था कि घबराने की जरूरत नहीं है। रिद्धिमान साहा ने पहले टेस्ट मैच में शानदार विकेटकीपिंग की थी, इसके बावजूद उनकी जगह इस मैच में पार्थिव पटेल को मौका दिया जाएगा। पार्थिव निश्चित रूप से बल्लेबाजी में साहा से बेहतर हैं जिसके चलते उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल करने के संकेत मिले हैं। शिखर धवन की जगह केएल राहुल को उतारा जा सकता है।

धवन का उछाल लेती पिचों पर प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है जिसके चलते उनकी जगह राहुल को मौका मिलने की संभावना है। इस पिच पर उछाल रहेगी, लेकिन गेंद ज्यादा स्विंग नहीं होगी, इसके चलते भुवनेश्वर की जगह ईशांत शर्मा को भी मौका मिलने की उम्मीद है। भुवी ने पहले टेस्ट मैच में शानदार प्रदर्शन किया था, लेकिन टीम प्रबंधन पिच को ध्यान में रखकर उनकी जगह ईशांत को उतार सकता है। अजिंक्य रहाणे को अभी मौके के लिए इंतजार करना होगा, क्योंकि विराट अभी रोहित को बाहर बिठाने के मूड में नहीं है।

दक्षिण अफ्रीकी टीम ने पहला मैच आसानी से जीता था, लेकिन चोट के कारण डेल स्टेन के बाहर होने से प्लेइंग इलेवन में एक बदलाव अवश्य होगा। स्टेन की जगह क्रिस मॉरिस या लुंगी नजीडी में से किसी एक को मौका मिलने की उम्मीद है। सुपरस्पोर्ट पार्क इन दोनों का घरेलू मैदान है, अब देखना होगा कि इनमे से किसे मौका मिलेगा।

एक नजर इधर भी...

- द. अफ्रीका ने इस मैदान पर 22 टेस्ट खेले, जिनमें से 17 में उसे जीत मिली जबकि 2 में हार झेलनी पड़ी। उसके 3 मैच ड्रॉ रहे।

- द. अफ्रीका को इस मैदान पर वर्ष 2000 में इंग्लैंड से और वर्ष 2014 में ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा था।

- भारत ने यहां एकमात्र टेस्ट मैच वर्ष 2010 में खेला था, जिसे वह पारी और 25 रनों से हारा था।

टीमें (संभावित) दक्षिण अफ्रीका : डीन एल्गर, ऐडन मार्करैम, हाशिम अमला, फॉफ डु प्लेसिस (कप्तान), क्विंटन डी कॉक, वर्नोन फिलेंडर, क्रिस मॉरिस/लुंगी नजीडी, केशव महाराज, कगिसो रबाडा, मोर्ने मॉर्केल।

भारत: मुरली विजय, शिखर धवन/केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, रविचंद्रन अश्विन, हार्दिक पांड्‍या, रिद्धिमान साहा/पार्थिव पटेल, भुवनेश्वर कुमार/ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह