मल्टीमीडिया डेस्क। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट मैच शुक्रवार से हैदराबाद में खेला जाएगा। भारत के युवा ओपनर पृथ्वी शॉ ने राजकोट में अपने डेब्यू टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक लगाया था और वे इस चमकदार प्रदर्शन को हैदराबाद में भी दोहराना चाहेंगे। पृथ्वी इस टेस्ट में भी शतक लगाकर तीन दिग्गज भारतीय बल्लेबाजों के स्पेशल रिकॉर्ड की बराबरी करने के इरादे से मैदान में उतरेंगे।

पृथ्वी ने इंडीज के खिलाफ राजकोट टेस्ट में दमदार शतक जड़ते हुए 134 रन बनाए थे। अब यदि वे इंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में शतक लगाते हैं तो वे अपने शुरुआती दो टेस्ट मैचों में शतक लगाने वाले चौथे भारतीय बल्लेबाज बन जाएंगे। इससे पहले यह उपलब्धि भारत की तरफ से मोहम्मद अजहरूद्दीन, सौरव गांगुली और रोहित शर्मा हासिल कर चुके हैं।

अजहर ने सबसे पहले यह करिश्मा 1984-85 में इंग्लैंड के खिलाफ अपनी डेब्यू सीरीज में किया था। अजहर ने दिसंबर 1984 में कोलकाता में डेब्यू टेस्ट में पहली पारी में 110 रन बनाए। उन्होंने इसके बाद जनवरी 1985 में चेन्नई में अपने दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में 105 रन बनाए थे। गांगुली ने 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ इस कारनामे को दोहराया था। उन्होंने जून 1996 में लॉर्ड्स में अपने पहले टेस्ट में 131 रन बनाए। उन्होंने इसके बाद नॉटिंघम में अगले टेस्ट में 136 रनों की पारी खेली थी।

गांगुली के बाद रोहित शर्मा ने इस कारनामे को नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अंजाम दिया था, यह सचिन तेंडुलकर की विदाई सीरीज थी। रोहित ने कोलकाता टेस्ट में शानदार डेब्यू कर 177 रन बनाए और फिर सचिन के अंतिम टेस्ट में मुंबई में नाबाद 111 रन बनाए थे। अजहर और गांगुली का टेस्ट करियर तो बेहद सफल और लंबा रहा था, लेकिन रोहित का करियर शानदार आगाज के बाद परवान नहीं चढ़ पाया था।

अब पृथ्वी के पास हैदराबाद टेस्ट में शतक लगाकर इन दिग्गजों के ग्रुप में शामिल होने का मौका है। वैसे केमार रोच और जेसन होल्डर की वापसी से पृथ्वी की राह थोड़ी मुश्किल अवश्य हो सकती हैं, लेकिन इस युवा बल्लेबाज को चुनौतियों का सामना करने में मजा आता है।