कोलकाता। राजस्थान रॉयल्स को एलिमिनेटर में हराकर केकेआर ने इस सीजन में लगातार 4 मैच जीत लिए हैं। बुधवार को कोलकाता नाइटराइडर्स ने राजस्थान रॉयल्स को 25 रन से हराकर दूसरे क्वालिफायर में अपनी जगह बना ली है। इस जीत के बाद केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक भी काफी खुश हैं।

दिनेश कार्तिक ने मैच के बाद युवा खिलाड़ी शुभमन गिल की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि," राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शुभमन गिल की पारी टीम के लिए बहुत अहम रही। इसी पारी की वजह से वो और आंद्रे रसेल बाद के ओवरों में तेजी से रन बटोर पाए"। कप्तान कार्तिक ने कहा कि, "हम दबाव में थे, मगर शुभमन की वजह से टीम उससे उबरी। उसने कुछ अच्छे शॉट्स खेले। जिसकी वजह से मेरे और रसेल के ऊपर से दबाव हटा और हम तेजी से रन बटोर पाए"।

एक वक्त राजस्थान रॉयल्स ने केकेआर के 24 रन के भीतर 3 विकेट गिरा दिए थे। मगर इसके बावजूद केकेआर बीस ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 169 रन बनाने में कामयाब रही। जीत के लिए मिले टारगेट का पीछा करने उतरी राजस्थान की शुरुआत तो अच्छी रही, मगर स्पिनर्स के आने के बाद राजस्थान रॉयल्स की पारी लड़खड़ा गई।

कार्तिक ने कहा कि, इस तरह के मैचों में स्कोर की ज्यादा अहमियत नहीं होती है, आपको खुद पर विश्वास रखना पड़ता है। हमारे गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की।

इस हार के बाद रहाणे भी काफी मायूस नजर आए हैं, क्योंकि एक वक्त टीम की स्थिति काफी अच्छी थी। मगर फिर बल्लेबाज तेजी से रन नहीं बटोर पाए।

मैच के बाद रहाणे ने कहा कि, "हमने गेंदबाजी में अच्छी शुरुआत की थी, मगर रसेल का कैच छोड़ना हमको भारी पड़ गया। हमने लक्ष्य का पीछा करते हुए अच्छी शुरुआत की थी। ऐसे में आप मैच जीत लेते हैं, मगर बाद में केकेआर ने अच्छी गेंदबाजी की। मेरी नजर में इस टारगेट को पूरा करना मुश्किल नहीं था। मेरे और राहुल के बीच अच्छी साझेदारी हुई। इसके बाद संजू सैमसन ने भी अच्छी बल्लेबाजी की। मगर केकेआर के स्पिनर्स कुलदीप और सुनील नरेन ने हमें रोक दिया"।

रहाणे यहीं नहीं रूके उन्होंने कहा कि, "मैं और संजू जब बैटिंग कर रहे थे, तब हम सकारात्मक सोच के साथ खेल रहे थे। मैंने संजू को कहा कि वो आखिर तक खेले। मगर अच्छी पारी खेलने के बाद वो आउट हो गया। हमारे पास आठ विकेट थे और पांच ओवर भी बाकी थे। ऐसे में हमें जीतना चाहिए था। इस सीजन में हमारी गेंदबाजी अच्छी रही है। मगर हमें अपनी बल्लेबाजी में काफी सुधार करना होगा"।