मल्टीमीडिया डेस्क। टीम इंडिया-इंग्लैंड के बीच साल 1964 में चेन्नई में टेस्ट मैच खेला गया। मैच के नतीजे की बात करें तो किसी को भी ये मैच याद नहीं होगा।

मैच तो ड्रॉ रहा लेकिन टीम इंडिया के गेंदबाज बापू नाडकर्णी ने एक इस मैच में एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया जिसे आजतक कोई भी गेंदबाज नहीं तोड़ पाया।

नाडकर्णी ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों को पूरी पारी में ऐसा जकड़ कर रखा जिससे वो बाहर ही नहीं निकल पाए।

दरअसल बापू ने टेस्ट मैच की पहली पारी में 32 ओवर फेंके और उसमें से उन्होनें 27 ओवर मेडन फेंके, 32 ओवर खेलने के बाद इंग्लैंड के बल्लेबाज बापू के खिलाफ सिर्फ 5 रन ही बना सके।

बापू ने इस पारी में 0.15 के इकोनॉमी रन-रेट से रन खर्चे थे। जो की आज भी क्रिकेट जगत में 10 से ज्यादा ओवर फेंकने वाले गेंदबाज के लिए बेस्ट रिकॉर्ड है।

टेस्ट क्रिकेट में भारत के सबसे किफायती गेंदबाज हैं, जबकि दुनिया के किफायती गेंदबाजों की लिस्ट में वो चौथे नंबर पर आते हैं। इंग्लैंड के विलियम एटवेल (10 टेस्ट मैच, इकॉनमी रेट 1.31), इंग्लैंड के ही क्लिफ ग्लैडविन (8 टेस्ट मैच, इकॉनमी रेट 1.60) और दक्षिण अफ्रीका के ट्रेवर गॉडर्ड (41 टेस्ट मैच, इकॉनमी रेट 1.64) ही इस लिस्ट में नंदकर्णी से ऊपर हैं।