पोर्ट एलिजाबेथ। पांचवे वनडे में दक्षिण अफ्रीका को 73 रनों से हराकर भारत ने इतिहास रच दिया। ये भारत की दक्षिण अफ्रीकी की सरजमीं पर पहली सीरीज जीत है। इस जीत के साथ ही भारत ने 6 मैचों की वनडे सीरीज में 4-1 की अजेय बढ़त बना ली है। अब आखिरी मुकाबला शुक्रवार को सेंचुरियन में खेला जाएगा।

पोर्ट एलिजाबेथ में मिली ऐतिहासिक जीत के हीरो रोहित शर्मा रहे। उनके अलावा दोनों फिरकी गेंदबाज युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने भी अफ्रीकी खेमे को घुटने पर लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

पांचवें वनडे में रोहित का शतक-

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रोहित शर्मा का बल्ला पांचवें वनडे से पहले तक खामोश ही रहा था, मगर अहम मैच में रोहित शर्मा रंग में नजर आए। मिले मौके को भुनाते हुए रोहित शर्मा ने 126 गेंदों पर शानदार 115 रन बनाए। इसमें 11 चौके और चार छक्के शामिल हैं। ये रोहित का वनडे करियर में 17वां शतक था और ऐसे मौके पर आया जब टीम को सबसे ज्यादा जरुरत थी। रोहित के शतक की बदौलत ही भारत पचास ओवर में 274 रन बनाने में कामयाब हुआ। ये अलग बात है कि मिडिल ऑर्डर ने उनका साथ नहीं दिया, वरना टीम का स्कोर आसानी से 300 के पार पहुंच जाता।

कुलदीप-युजवेंद्र की जोड़ी ने जमाया रंग-

रोहित के अलावा इस जीत में युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव का रोल भी अहम रहा। दोनों रिस्ट स्पिनर्स ने अपनी फिरकी गेंदबाजी के जाल में अफ्रीकी बल्लेबाजों को ऐसा उलझाया कि वो एक-एक रन के लिए तरस गए। कुलदीप यादव ने चार विकेट झटके तो वहीं युजवेंद्र के खाते में 2 विकेट आए। अब तक सीरीज के पांच मैचों में गिरे दक्षिण अफ्रीकी विकेटों के आंकड़ों पर गौर करें, तो इन दोनों फिरकी गेंदबाजों ने इस सीरीज में कुल तीस विकेट चटकाए हैं।

आपको बता दें कि मंगलवार को पोर्ट एलिजाबेथ में हुए पांचवें वनडे में भारतीय टीम ने 50 ओवरों में 7 विकेट के नुकसान पर 274 रन बनाए थे। वहीं लक्ष्य का पीछा करते हुए बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की टीम भारतीय गेंदबाजों के सामने ज्यादा देर नहीं टिक सकी और महज 201 के स्कोर पर ही ऑल आउट हो गई।