सिडनी। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर ने ऑस्ट्रेलियाई बैट निर्माता कंपनी पर 2 मिलियन डॉलर से ज्यादा (करीब 14 करोड़ रुपए) के हर्जाने का दावा लगाया है। सचिन का आरोप है कि इस कंपनी ने अपने उत्पादों के प्रमोशन के लिए उनके नाम और फोटो का उपयोग किया लेकिन तय की हुई राशि उन्हें प्रदान नहीं की।

तेंडुलकर ने कहा कि सिडनी की स्पार्टन स्पोर्ट्स इंटरनेशनल ने साल 2016 में अपने उत्पादों और क्लोदिंग के लिए उनके फोटो, लोगो और प्रमोशनल सेवाओं के लिए हर साल करीब 1 मिलियन डॉलर देने पर रजामंदी प्रदान की थी। समाचार एजेंसी रायटर की रिपोर्ट के अनुसार फेडरल कोर्ट में जमा किए गए दस्तावेजों में सचिन ने बताया कि 'सचिन बाय स्पार्टन' रेंज के लिए यह अनुबंध हुआ था। सचिन इसके बाद इस कंपनी के लिए लंदन और मुंबई में प्रमोशनल इवेंट्स में शामिल हुए थे। लेकिन सितंबर 2018 तक स्पार्टन की तरफ से उन्हें एक भी पैसा नहीं दिया गया। सचिन ने पैमेंट के लिए आधिकारिक अनुरोध भी किया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला तो उन्होंने कंपनी के साथ अनुबंध समाप्त कर उन्हें अपने फोटो और नाम के उपयोग करने से मना किया। इसके बावजूद स्पार्टन कंपनी ऐसा करती रही।

तेंडुलकर के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट के कई खास कीर्तिमान दर्ज हैं। उन्होंने अपने 24 वर्ष के अंतरराष्ट्रीय करियर में 100 शतक लगाए और 34000 से ज्यादा रन बनाए। उन्होंने 2013 के अंत में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था। उन्हें 2012 में ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख नागरिक अवॉर्ड में से एक ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया से सम्मानित किया गया था।