Naidunia
    Saturday, December 16, 2017
    PreviousNext

    तीसरा टेस्ट ड्रॉ, भारत ने की विश्व रिकॉर्ड की बराबरी

    Published: Wed, 06 Dec 2017 09:21 AM (IST) | Updated: Wed, 06 Dec 2017 07:01 PM (IST)
    By: Editorial Team
    team india06 2017126 171716 06 12 2017

    नई दिल्ली। धनंजय डीसिल्वा (119 रिटायर्ड हर्ट) और रोशन सिल्वा (74 नाबाद) की उम्दा पारियों से श्रीलंका ने भारत के खिलाफ तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ करवा लिया। 410 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका ने अंतिम दिन दूसरी पारी में 103 अोवरों में 5 विकेट खोकर 299 रन बनाए। इसी के साथ भारत ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज पर 1-0 से कब्जा जमाया। विराट कोहली को मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। इसी के साथ भारत ने लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीत के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

    इससे पहले सिर्फ इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीम लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीत चुकी हैं। इंग्लैंड ने 1884 से 1892 के बीच लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीती थी। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अक्टूबर 2005 से जून 2008 के बीच लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीत इस रिकॉर्ड की बराबरी की थी। अब विराट कोहली की टीम इंडिया ने इस रिकॉर्ड की बराबरी की।

    श्रीलंका ने मैच के अंतिम दिन सुबह 31/3 से आगे खेलना शुरू किया। एंजेलो मैथ्यूज मात्र 1 रन बनाकर जडेजा की गेंद पर रहाणे को कैच थमा बैठे। वैसे वे दुर्भाग्यशाली रहे कि वे जिस गेंद पर आउट हुए वह नोबॉल थी लेकिन अंपायर जोएल विल्सन उसे देख नहीं पाए। इसके बाद डीसिल्वा और चांदीमल ने मैच बचाने का संघर्ष शुरू किया। डीसिल्वा ने 92 गेंदों में 8 चौकों और 1 छक्के की मदद से फिफ्टी पूरी की।

    लंच के कुछ देर पहले जब चांदीमल 25 रनों पर थे तब जडेजा ने उन्हें बोल्ड कर दिया था लेकिन टीवी रिप्ले में यह गेंद नोबॉल निकली और चांदीमल बच गए। डीसिल्वा के साथ चांदीमल ने पांचवें विकेट के लिए 112 रनों की महत्वपूर्ण भागीदारी की। अश्विन ने चांदीमल (36) को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ा। डीसिल्वा ने 188 गेंदों में 13 चौकों और 2 छक्कों की मदद से शतक पूरा किया। यह उनका भारत के खिलाफ पहला तथा कुल तीसरा टेस्ट शतक हैं।

    श्रीलंका उस वक्त मुश्किल में घिरा नजर आया जब शतकवीर डीसिल्वा को बाएं पैर की चोट के चलते रिटायर्ड हर्ट होना पड़ा। वे 219 गेंदों में 15 चौकों और 1 छक्के की मदद से 119 रन बनाकर रिटायर्ड हर्ट होकर पैवेलियन लौटे। उस वक्त श्रीलंका ने 5 विकेट पर 205 रन बनाए थे। इसके बाद रोशन सिल्वा ने निरोशन डिकवेला के साथ संघर्ष जारी रखा। सिल्वा ने 105 गेंदों में 9 चौकों की मदद से फिफ्टी पूरी की। सिल्वा जब 154 गेंदों में 11 चौकों की मदद से 74 और निरोशन डिकवेला 44 रन बनाकर नाबाद थे, तभी मैच समाप्त घोषित कर दिया गया।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें