सेंट लूसिया। एजेंसी विंडीज और इंग्लैंड के बीच तीसरे क्रिकेट टेस्ट में एक रोचक वाकया हुआ, जब आउट होने के बाद बल्लेबाज को दोबारा मैदान में बुलाकर बल्लेबाजी कराई गई। यह सब आईसीसी के नए नियमों के कारण संभव हुआ। इंग्लैंड की पहली पारी 277 रनों पर खत्म हुई।

जवाब में खबर लिखे जाने तक मेजबान विंडीज ने 25 ओवरों में 59 रनों पर चार विकेट गंवा दिए थे। शिमरोन हिटमेयर और डैरेन ब्रावो बिना खाता खोले क्रीज पर थे। इससे पहले विंडीज के अल्जारी जोसफ के 70वें ओवर की आखिरी गेंद पर बेन स्टोक्स ने पुल शॉट खेला और गेंद जोसफ के हाथों में समा गई। अंपायर ने आउट दिया।

स्टोक्स ने इस वक्त 88 गेंदों में 52 रन बनाए थे। जॉनी बेयरस्टो मैदान में आ गए। मगर तभी तीसरे अंपायर ने जब गेंद जांची तो वह नोबॉल थी। स्टोक्स जा चुके थे और उन्हें दोबारा बुलाया गया। स्टोक्स बाद में 79 रन बनाकर आउट हुए। बटलर ने 67 रन बनाए। रोच ने 4 विकेट लिए।

यदि गेंद फिक जाती तो नहीं खेल पाते स्टोक्स

पूर्व बीसीसीआई पैनल अंपायर राजीव रिसोड़कर के अनुसार पहले नियम यह था कि यदि बल्लेबाज खेल का मैदान छोड़ देता है तो उसे वापस नहीं बुला सकते हैं। मगर कई मौकों पर बल्लेबाज को बुलाया गया है। अब आईसीसी ने नियम बदल दिए हैं। नए नियम के अनुसार अंपायर ने मैदान नहीं छोड़ा हो और अगली गेंद न फिकी हो तो बल्लेबाज को बुलाया जा सकता है।