मल्टीमीडिया डेस्क। दक्षिण अफ्रीका को क्रिकेट वर्ल्ड कप में अपनी उम्मीदों को बनाए रखने के लिए बर्मिंघम में न्यूजीलैंड का सामना करना है। द. अफ्रीकी स्पिनर इमरान ताहिर के लिए यह मैच खास हो सकता है क्योंकि वे एक रिकॉर्ड बनाने से मात्र दो विकेट दूर है। उनका इस वर्ल्ड कप में जैसे प्रदर्शन चल रहा है उसे देखते हुए वे इस मैच में यह मुकाम हासिल कर सकते हैं।

ताहिर वर्ल्ड कप में 18 मैचों में 18.32 की औसत से 37 विकेट ले चुके हैं। उन्हें एलन डॉनल्ड को पीछे छोड़ क्रिकेट वर्ल्ड कप में द. अफ्रीका की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाला गेंदबाज बनने के लिए दो विकेटों की दरकार है। व्हाइट लाइटनिंग के नाम से मशहूर डॉनल्ड ने 1992 से 2003 के बीच 25 वर्ल्ड कप मैचों में 24.02 की औसत से 38 विकेट लिए थे। शॉन पोलक 31 मैचों में 31 विकेट लेकर तीसरे स्थान पर है। मोर्ने मॉर्केल 14 मैचों में 26 विकेट लेकर चौथे और डेल स्टेन 14 मैचों में 23 विकेट लेकर पांचवें स्थान पर है।

40 वर्षीय ताहिर इस वर्ल्ड कप में 5 मैचों में 8 विकेट ले चुके हैं। उन्होंने अफगानिस्तान के खिलाफ कार्डिफ में 29 रनों पर 4 विकेट लिए थे। उन्होंने इसके अलावा ओवल में इंग्लैंड और बांग्लादेश के खिलाफ 2-2 विकेट लिए थे।

द. अफ्रीका पांच मैचों में 3 अंकों के साथ अंक तालिका में आठवें क्रम पर है। द. अफ्रीका को अब न्यूजीलैंड के अलावा पाकिस्तान, श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया से खेलना है और सेमीफाइनल की उम्मीदों को बनाए रखने के लिए उसे ये चारों मैच जीतने होंगे।

ग्लेन मॅक्ग्राथ शीर्ष पर :

वर्ल्ड कप में यदि सबसे ज्यादा विकेट लेने की बात की जाए तो ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मॅक्ग्राथ पहले क्रम पर है। मॅक्ग्राथ ने 1996 से 2007 के दौरान 39 मैचों में 18.19 की औसत से 71 विकेट लिए हैं। श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन 40 मैचों में 68 विकेट के साथ दूसरे और पाकिस्तान के वसीम अकरम 38 मैचों में 55 विकेटों के साथ तीसरे स्थान पर है।