मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार सुबह 12वें क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड रवाना हुई। टीम इंडिया को इस बार खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि इस वर्ल्ड कप में उनकी टीम हर मैच को समान रूप से लेगी और टीम विशेष के लिए उनकी कोई अलग रणनीति नहीं होगी।

विराट ने कहा, इस बार का वर्ल्ड कप बहुत चुनौतीपूर्ण होगा क्योंकि कोई भी टीम किसी को भी हराने की क्षमता रखती है। इसके मद्देनजर हर मैच को पूरी गंभीरता से लेना होगा। उन्होंने कहा, हम विपक्षी टीमों (विशेषकर पाकिस्तान) के हिसाब से रणनिति बनाने की बजाए अपनी ताकत को ध्यान में रखकर खेलेंगे। यदि हम अलग-अलग टीमों के हिसाब से रणनीति तैयार करेंगे तो हम अपने मजबूत पक्षों पर ध्यान नहीं दे पाएंगे, इसके चलते हम विपक्षी टीम के बारे में ज्यादा सोचने की बजाए अपनी ताकत के हिसाब से खेलेंगे।

भारत और पाकिस्तान के बीच 16 जून को ओल्ड ट्रैफर्ड में मुकाबला होगा। पाकिस्तान आज तक वनडे वर्ल्ड कप में भारत को कभी भी हरा नहीं पाया है। इन दोनों टीमों के बीच वनडे वर्ल्ड कप में छह बार भिड़ंत हो चुकी हैं और हर बार टीम इंडिया जीतने में सफल रही हैं।

भारत के चीफ कोच रवि शास्त्री ने कहा कि इस बार वर्ल्ड कप में चुनौती ज्यादा रहेगी क्योंकि सभी टीमों को एक-दूसरे के खिलाफ खेलना है। कोई भी टीम कमजोर नहीं है यदि भारतीय खिलाड़ी आनंद के साथ खेलेंगे तो भारत तीसरी बार खिताब जीत सकता है।

इससे पहले पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने भी कहा था कि भारत के खिलाफ होने वाला मैच महत्वपूर्ण रहेगा लेकिन वे इसे भी सामान्य मैचों की तरह ही लेंगे। वे ऐसा इसलिए करेंगे क्योंकि यदि इस मैच पर ज्यादा ध्यान दिया तो खिलाड़ियों पर अतिरिक्त दबाव आ जाएगा।