काबुल (एजेंसियां)। अफगानिस्तान ने विश्व कप क्रिकेट 2019 में अभी तक 3 मैच खेले हैं और तीनों में ही उसे हार का सामना करना पड़ा है। टीम टूर्नामेंट से लगभग बाहर हो चुकी है और टीम के साथ कुछ अच्छा नहीं हो रहा। ताजा मामले में टीम के स्टार बल्लेबाज मोहम्मद शहजाद ने अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर गंभीर आरोप लगाए हैं। शहजाद फूट-फूटकर रोए भी।

शहजाद घुटने की चोट के कारण टीम से बाहर किए और इसी कारण उनका दर्द सामने आ गया। स्वदेश लौटे शहजाज ने अफगानिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड पर विश्‍व कप मैचों के दौरान खिलाड़ियों के चयन में पक्षपात का आरोप लगाया। शहजाद को घुटने में चोट के कारण अनफिट घोषित किया गया और वे विश्‍व कप से बाहर हो गए हैं। उनके स्थान पर विकेटकीपर बल्‍लेबाज इकरम अली को टीम में शामिल किया गया है। बता दें कि शहजाद को पाकिस्‍तान के खिलाफ हुए अभ्‍यास मैच के दौरान घुटने में चोट लगी थी। उस मैच में वे रिटायर्ड हर्ट हुए थे। बाद में उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया और श्रीलंका के खिलाफ मैच खेले थे। पर ये चोट गंभीर हुई और उन्‍हें टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा।

स्वदेश लौटने पर शहजाद का दर्द छलका और टीम से उन्हें बाहर किए जाने को लेकर उन्होंने बोर्ड पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा- मुझे फिटनेस की कोई दिक्‍कत नहीं थी, बावजूद इसके मुझे बोर्ड ने विश्‍व कप मुकाबलों से बाहर कर दिया। शहजाद ने कहा - मैंने किसी का साथ नहीं दिया। यही वजह रही कि मुझे टीम से बाहर कर दिया गया। मुझे इसकी जानकारी नहीं दी गई। मैं अपनी ट्रेनिंग कर रहा था। मैंने करीब 3 घंटे अभ्‍यास किया और मुझे खबरों से पता चला कि मुझे बाहर कर दिया गया है।

शहजाद ने कहा - मेरे घुटने में पुरानी चोट थी जिससे मैं उबर रहा था। पर पाकिस्‍तान के खिलाफ मैंने अच्‍छी विकेटकीपिंग और बल्‍लेबाजी की। मैंने हजरतुल्‍लाह जजई से कहा कि एक रन नहीं लेना। उन्‍होंने भरोसा दिलाया कि ऐसा नहीं करेंगे। मगर मेरा दर्द बढ़ा तो मैच में आगे नहीं खेल सका। शहजाद ने टीम की कप्तानी को लेकर भी कहा - असगर टीम के सर्वश्रेष्‍ठ कप्‍तान थे क्‍योंकि वो खिलाडि़यों के बीच अच्‍छा तालमेल बनाए रखते थे और उन्हें टीम के सभी सदस्‍यों का विश्वास हासिल था। लेकिन अब ऐसा नहीं है। बता दें कि शहजाद अफगानिस्तान के स्टार बल्लेबाज माने जाते हैं। 2015 के विश्व कप के बाद 55 पारियों में 1843 रन बना चुके हैं।