ढाका। जिम्बाब्वे के कोच लालचंद राजपूत ने कहा कि टेस्ट मैच में पांच साल बाद बांग्लादेश के खिलाफ मंगलवार को मिली जीत उनके लिए दीपावली के उपहार की तरह है।

राजपूत ने कहा, 'यह काफी अहम जीत है क्योंकि बड़ी टेस्ट टीमों को भी बांग्लादेश में संघर्ष करना पड़ता है। इसलिए बांग्लादेश को उनकी सरजमीं पर हराना हमारे लिए बहुत बड़ी जीत हैं।'

56 साल के इस पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने कहा, 'मैं बहुत खुश हूं। मेरे लिए यह दीपावाली के उपहार की तरह है, जो टीम ने दिया है। मुझे टीम को फिर से गठित करना पड़ा। शुरुआत में कुछ मैचों में हार के बाद टेस्ट मैच में जीत जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड और वहां के लोगों के लिए शानदार बात हैं।' इससे पहले अफगानिस्तान के कोच रहे राजपूत ने जीत का श्रेय पूरी टीम को देते हुए कहा कि यह पूरी टीम के प्रयासों का नतीजा है।

जिम्बाब्वे ने मंगलवार को बांग्लादेश को पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन 151 रनों से हरा दिया। 321 रनों के टारगेट का पीछा करते हुए बांग्लादेश की दूसरी पारी 63.1 ओवरों में 169 रनों पर सिमट गई। इसके पूर्व पहली पारी में 139 रनों की बढ़ते लेने के बाद जिम्बाब्वे ने दूसरी पारी में 181 रन बनाए थे। सीन विलियम्स मैन ऑफ द मैच चुने गए। जिम्बाब्वे ने इसी के साथ दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई।