अबु धाबी। पहले मैच में थाईलैंड को 4-1 से हराने के बाद भारत अब AFC एशियन कप फुटबॉल में गुरुवार शाम संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से को खेलेगा। पहली जीत के बाद भारतीय टीम बढ़े मनोबल के साथ मैदान में उतरेगी। वहीं UAE को मेजबान होने का फायदा मिलेगा। यहां के जाएद स्पोर्ट्स सिटी में ये मुकाबला खेला जाएगा।

थाईलैंड पर मिली बड़ी जीत से भारत को 3 अंक मिले और टीम अपने ग्रुप में टॉप पर है। वहीं UAE ने बहरीन के खिलाफ अपना पहला मैच 1-1 से ड्रॉ खेला। भारत का गोल अंतर भी बेहतर है जो ग्रुप स्तर पर महत्वपूर्ण रहेगा। भारत ने थाईलैंड के खिलाफ जबर्दस्त प्रदर्शन किया था। खासतौर से सेकंड हाफ में भारतीय खिलाड़ियों ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया। भारतीय अटैकर थाईलैंड के मजबूत डिफेंस को सुनियोजित तरीके से भेदने में कामयाब हुए थे।

सुनील छेत्री से उम्मीदें

भारत के लिए फॉरवर्ड सुनील छेत्री शानदार फॉर्म में हैं। थाईलैंड के खिलाफ उन्होंने 2 गोल दागे। लालपेखलुवा और मिडफील्डर अनिरुद्ध थापा शानदार खेल दिखा रहे हैं। टीम की फॉरवर्ड लाइन अच्छी लय है और बेहतरीन मूव बना रहे हैं। पहले मैच में इन खिलाड़ियों का तालमेल बेहतरीन नजर आया।

डिफेंस में सुधार की जरुरत

भारत के लिए फॉरवर्ड का अच्छा प्रदर्शन जहां राहत देने वाली बात है वहीं डिफेंडरों का औसत प्रदर्शन टीम के लिए चिंताजनक पक्ष है। ऐसे में UAE की ओर से 2015 में एशियन प्लेयर ऑफ द ईयर चुने गए अहमद खलील और अली मबखाउत जैसे खिलाड़ी भारत के लिए बड़ी चुनौती बन सकते हैं।

भारत बदल सकता है इतिहास

भारतीय टीम को बेहतरीन तालमेल की उम्मीद UAE के खिलाफ भी है। हालांकि फीफा रैंकिंग में UAE की टीम भारत से काफी बेहतर है लेकिन मौजूदा फॉर्म में भारत से इस बार इतिहाल बदलने की उम्मीद का रही है। AFC एशियन कप में भारत और UAE में अब तक 4 मुकाबले हुए, लेकिन किसी में भी भारत को जीत नहीं मिली। ऐसे में भारत ये मैच जीतकर पहली बार UAE के खिलाफ जीत हासिल करने की कोशिश में रहेगा।

UAE चाहेगा जीत

ग्रुप में अभी भारत को UAE के अलावा बहरीन से खेलना है। यदि भारत दोनों के खिलाफ ड्रॉ भी खेलता तो भी उसके नाकआउट में पहुंचने की उम्मीद हैं क्योंकि उसके खाते में एक जीत और बेहतर गोल औसत है। वहीं मेजबान UAE को नॉकआउट में पहुंचने के लिए हर हाल में जीत जरूरी है।

UAE के कोच अल्बटरे जाचेरोनी के मुताबिक होम ग्राउंंड पर मेजबान टीम पिछले मैच के प्रदर्शन को भुलाकर नए प्लानिंग के साथ मैदान में उतरेगी। भारत के खिलाफ मुकाबले के लिए हमने अलग रणनीति बनाई है। टीम को चोटिल ओमर अब्दुलरहमान की कमी जरूर खलेगी क्योंकि वे टीम के बेहतरीन खिलाड़ियों में से हैं।

भारतीय टीम-

गोलकीपर- गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह, विशाल कैथ।

डिफेंडर- प्रीतम कोटाल, संदेश झिंगन, अनस एदाथोडिका, सलाम रंजन सिंह, सार्थक गोलुई, सुभाशीष बोस और नारायण दास।

मिडफील्डर- उदांता सिंह, जैकीचंद सिंह, प्रणॉय हल्दर, अनिरुद्ध थापा, विनीत राय, रॉलिगं बोर्गेस, जर्मनप्रीत सिंह, अशिक कुरुनियान, हालीचरण नारजारे।

फारवर्ड- सुनील छेत्री, जेजे लालपेखलुआ, बलवंत सिंह, सुमित पस्सी।