नई दिल्ली। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने क्रोएशिया के इगोर स्टिमैक को भारतीय फुटबॉल टीम का मुख्य कोच नियुक्त कर कई सप्ताह से चली आ रही अटकलों पर विराम लगा दिया। स्टिमैक को दो साल के लिए अनुबंधित किया है।
स्टिमैक को क्रोएशिया समेत दुनियाभर में 18 वर्षों तक टीम की कोचिंग और खिलाड़ियों को तैयार करने का अनुभव है। वे जब क्रोएशिया के कोच थे तब उन्होंने माटेव कोवासिच, एंटे रेबिक, एलेन हालिलोविच और इवान पैरिसिच जैसे महत्वपूर्ण खिलाड़ियों का डेब्यू करवाया था। उन्होंने डारियो सरना, डेनियल सुबासिच, इवान स्ट्रिनिक, कोवासिच, पैरिसिच जैसे खिलाड़ियों को तैयार किया। स्टिमैक का पिछला कार्यकाल कतर के अल-शहानिया क्लब के साथ था।
खिलाड़ी के रूप में स्टिमैक क्रोएशिया की उस टीम में शामिल थी जिसने फीफा विश्व कप 1998 में तीसरा स्थान हासिल किया था। वे इंग्लैंड में 1996 यूरो कप में क्वार्टरफाइनल में खेली क्रोएशियाई टीम के सदस्य थे। वे 1987 में चिली में फीफा अंडर-20 विश्व कप में खेली यूगोस्लावियाई टीम के सदस्य रहे थे।
एआईएफएफ के अध्यक्ष प्रफुल पटेल ने कहा, भारतीय टीम के कोच पद के लिए स्टिमैक सही दावेदार हैं। मैं उनका कोच के रूप में स्वागत करता हूं। भारतीय फुटबॉल संक्रमण के दौर से गुजर रही है और मुझे विश्वास है कि स्टिमैक का अनुभव भारतीय टीम के काम आएगा।
नई दिल्ली। क्रोएशिया के इंटरनेशनल फुटबॉलर रहे इगोर स्टिमैक (Igor Stimac) को भारतीय पुरुष फुटबॉल टीम का मुख्य कोच AIFF द्वारा नियुक्त किया गया है। ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (AIFF) ने इसका एलान बुधवार को किया। AIFF की कार्यकारी समिति ने इगोर स्टिमैक को दो साल के लिए मेन्स सीनियर नेशनल फुटबॉल टीम का हेड कोच बनाया है।
एआइएफएफ की तकनीकी समिति ने क्रोएशिया के पूर्व अंतरराष्ट्रीय और प्रबंधक इगोर स्टिमैक की भारतीय पुरुष टीम के कोच के रूप में नियुक्त के लिए सिफारिश की थी। इसी के बाद इगोर स्टिमैक को भारतीय फुटबॉल टीम का कोच चुना गया है। बता दें कि बतौर फुटबॉलर और टीम मैनेजर Igor Stimac को अच्छा खासा अनुभव है।