सारांस्क, रूस। 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रही कोलंबिया की टीम को फीफा विश्व कप के समूह "एच" के मुकाबले में जापान के खिलाफ 2-1 से हार का सामना करना पड़ा।

यह पहला मौका है जब किसी एशियाई टीम ने विश्व कप में दक्षिण अमेरिकी देश को हराया। जापान के लिए शिंजी कागावा ने छठे मिनट जबकि यूया ओसाको ने 73वें मिनट में गेंद को जाली में डाला।

वहीं कोलंबिया के लिए जुआन फर्नांडो क्विंतेरो ने 39वें मिनट में एकमात्र गोल किया। मैच के तीसरे ही मिनट में कोलंबिया को सबसे बड़ा झटका लगा, जब उसके सितारा खिलाड़ी कार्लोस सांचेज को जानबूझकर हैंडबॉल करने पर रेड कार्ड दिखाकर बाहर भेज दिया गया।

यह विश्व कप इतिहास में दूसरा सबसे तेज रेड कार्ड है। कोलंबिया ने अपने आक्रामक मिडफील्डर जेम्स रॉड्रिग्स को शुरुआती लाइनअप से बाहर रखा था।

जेम्स को मांसपेशियों में दर्द की समस्या हो रही थी। वे 59वें मिनट में क्विंतेरो की जगह मैदान में उतरे, लेकिन वे कोई कमाल नहीं दिखा सके।