रोस्तोव-ओन-डॉन, रूस। मेक्सिको ने प्रारंभिक मैच में विश्व चैंपियन जर्मनी पर दर्ज की गई जबर्दस्त जीत की लय को बरकरार रखते हुए विश्व कप फुटबॉल के ग्रुप-एफ के मुकाबले में दक्षिण कोरिया को 2-1 से पराजित कर दिया। इसके साथ ही उसने नॉकआउट में पहुंचने की उम्मीदों को पुख्ता कर दिया।

कार्लोस वेला ने 26वें मिनट में मिले पेनल्टी स्पॉट के जरिए गोल कर मेक्सिको को बढ़त दिला दी। सर्वकालिक शीर्ष स्कोरर जेवियर हर्नांडेज ने दूसरे हाफ में हिर्विंग लोजानो के पास पर गोल कर टीम की जीत सुनिश्चित कर दी।

हर्नांडेज का यह देश के लिए 50वां और विश्व कप में चौथा गोल है और वह अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा गोल करने वालों में मैक्सिको के लुईस हर्नांडेज की बराबरी पर पहुंच गए हैं।

कोरिया के स्टार फॉरवर्ड सोन हेयुंग मिन ने इंज्यूरी टाइम में कोरिया के लिए सांत्वना गोल किया। कोरिया अभी तक अपने पिछले 11 विश्व कप मैचों में से एक भी मैच नहीं जीत सकी है।

मैक्सिको ने मैच की शुरुआत से ही दबाव बनाए रखा। हालांकि कोरियाई टीम ने स्वीडन के हाथों पहले मैच में मिली हार के बाद से रणनीति में सुधार किया।

सोन एक बार गोल करने के करीब भी पहुंचा लेकिन मैक्सिकन गोलकीपर गुलिरेमो ओउचा ने गेंद को बार के ऊपर धकेल दिया।

26वें मिनट में मेक्सिको ने गोल कर खाता खोला, जब कप्तान आंद्रेस गुआडाडो को कोरियाई डिफेंडर जांग ह्यून सू ने गलत तरीके से टैकल किया, जिसके बाद मेक्सिको को पेनल्टी मिली।

पेनल्टी पर वेला ने कोरियाई गोलकीपर चो हेयोन वू को गलत दिशा में भेजकर टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई। लोजानो शुरुआत से ही कोरियाई टीम के खिलाफ आक्रमण बोल रहे थे।

अंततः दूसरे हाफ में उन्होंने एक जबर्दस्त मूव बनाया जिससे हर्नांडेज ने कोरियाई डिफेंडर को छकाते हुए दाएं पैर से गेंद को गोल पोस्ट में पहुंचा दिया।