लॉर्ड्स। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज मे 0-2 से पिछड़ रहे भारत के लिए अपनी उम्मीदों को बनाए रखने के लिए अब हर मैच महत्वपूर्ण हो गया है। दूसरे टेस्ट मैच में मिली पारी और 159 रनों की करारी हार के दौरान कप्तान विराट कोहली की फिटनेस ने मेहमान टीम की चिंता बढ़ा दी थी।

विराट दूसरे टेस्ट के दौरान पीठ दर्द के कारण परेशान रहे और इस वजह से तीसरे और चौथे दिन कुछ देर तक फील्डिंग से दूर रहे। इसी के चलते वे भारत की दूसरी पारी में नियमित चौथे क्रम पर बल्लेबाजी के लिए भी नहीं उतर पाए थे।

वैसे विराट ने अब स्थिति साफ कर दी है कि वो नॉटिंघम में 18 अगस्त से होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में खेलेंगे। दूसरे टेस्ट की हार के बाद विराट ने कहा, ‘अभी तीसरे टेस्ट में पांच दिन बाकी है और मुझे विश्वास है कि मैं फिट हो जाऊंगा। पीठ दर्द की समस्या फिर उभरी है, लेकिन यह वर्कलोड के कारण है।‘

उन्होंने स्वीकारा कि उन्हें रन दौड़ते वक्त भी परेशानी हो रही थी, लेकिन उन्होंने इससे निपटने का उपाय भी बताया। उन्होंने कहा कि वे फील्ड पर अब ज्यादा आक्रामकता नहीं दिखाएंगे। यह समस्या दक्षिण अफ्रीकी दौरे के टाइम उभरी थी, वैसे मुझे विश्वास है कि मैं समय रहते तीसरे टेस्ट मैच के लिए फिट हो जाऊंगा। अभी मेरी पीठ में अकड़न है लेकिन रिहैबिलिटेशन के जरिए मैं इससे निजात पा लूंगा।

कोहली पर भारत की उम्मीदें किस हद ‍तक निर्भर है, इसका पता इसी बात से चलता है कि उन्होंने बर्मिंघम टेस्ट मैच में जब 149 और 51 रन बनाए थे तब भारत ने मैच में संघर्ष किया था। वे दूसरे टेस्ट में बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाए तो टीम इंडिया को पारी के अंतर से हार झेलनी पड़ी। भारत को अब तीसरे टेस्ट मैच में बेहतर टीम कॉम्बिनेशन के साथ मैदान में उतरना होगा।