मल्टीमीडिया डेस्क। रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर (आरसीबी) और राजस्थान रॉयल्स के बीच मंगलवार को बेंगलुरु में आईपीएल 2019 का मुकाबला पहली गेंद डाली जाने से पूर्व ही रिकॉर्ड बुक में दर्ज हो गया। इस मैच में दोनों टीमों की तरफ से सिर्फ 6 खिलाड़ी मैदान में उतरे। यह आईपीएल के कुल 12 संस्करणों के दौरान सिर्फ चौथा मौका है।

मेजबान आरसीबी ने इस मैच के लिए सिर्फ तीन विदेशी खिलाड़ियों एबी डीविलियर्स, हेनरिक क्लासेन और मार्कस स्टोइनिस को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया। राजस्थान रॉयल्स ने भी तीन विदेशी खिलाड़ियों लियाम लिविंगस्टोन, स्टीव स्मिथ और ओशिन थॉमस को मौका दिया।

इस सत्र में यह दूसरा मौका है जब किसी मैच में सिर्फ 6 विदेशी खिलाड़ियों को मैच में शामिल किया गया। इससे पहले दिल्ली कैपिटल्स (डीसी) और चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के बीच मैच में दोनों टीमों की तरफ से सिर्फ 6 विदेशी खिलाड़ी ही मैदान में उतारे गए थे। चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से शेन वॉटसन, ड्वेन ब्रावो और इमरान ताहिर को प्लेइंग इलेवन में लिया गया। मेजबान दिल्ली कैपिटल्स ने कोलिन इनग्राम, किमो पॉल और कगिसो रबाडा को मैदान में उतारा।

आईपीएल नियमों के अनुसार हर टीम एक मैच में प्लेइंग इलेवन में अधिकतम 4 विदेशी खिलाड़ियों को शामिल कर सकती है और लगभग सभी मैचों में कुल 8 विदेशी खिलाड़ी मैदान में नजर आते हैं। आईपीएल का 2019 संस्करण ऐसा पहला सत्र बन गया जब एक साल में दो बार किसी मैच में सिर्फ 6 विदेशी खिलाड़ी मैदान में उतारे गए।

IPL मैच के दौरान 6 विदेशी खिलाड़ी मैदान में

चेन्नई सुपर किंग्स (4) विरुद्ध कोलकाता नाइटराइडर्स (2) चेन्नई 2011

दिल्ली डेयरडेविल्स (3) वि. रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर (3) दिल्ली 2017

दिल्ली कैपिटल्स (3) वि. चेन्नई सुपर किंग्स (3) दिल्ली 2019

रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर (3) वि. राजस्थान रॉयल्स (3) बेंगलुरु 2019