हैदराबाद। भारत ने रविवार को दूसरे टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज को 10 विकेटों से रौंदा। भारत ने तीसरे ही दिन 72 रनों के टारगेट को 16.1 ओवरों में बिना कोई विकेट खोए हासिल कर लिया। पृथ्वी शॉ 33 और केएल राहुल 33 रन बनाकर नाबाद रहे। उमेश यादव मैन ऑफ द मैच और पृथ्वी शॉ मैन ऑफ द सीरीज चुने गए।

भारत ने इसी के साथ दो टेस्ट मैचों की सीरीज में वेस्टइंडीज का 2-0 से सफाया किया। अब इनके बीच पांच वनडे मैचों की सीरीज 21 अक्टूबर से खेली जाएगी। भारत ने पहली पारी में 367 रन बनाकर 56 रनों की बढ़त हासिल करने के बाद इंडीज की दूसरी पारी को 127 रनों पर समेट दिया था। भारत ने राजकोट में पहले टेस्ट मैच में पारी और 272 रनों से जीत दर्ज की थी।

पहली पारी में 56 रनों से पिछड़ने के बाद इंडीज की दूसरी पारी का आगाज खराब रहा जब उमेश यादव ने क्रेग ब्रैथवेट को विकेटकीपर पंत के हाथों झिलवाया। अश्विन ने इसके बाद किरोन पॉवेल को स्लिप में रहाणे के हाथों झिलवाया। 6 रनों पर 2 विकेट खोने के बाद शाई होप के साथ शिमरोन हेटमेयर ने तीसरे विकेट के लिए 39 रन जोड़े। इसके बाद हेटमेयर (17) ने कुलदीप की गेंद पर बैकवर्ड पाइंट पर पुजारा को कैच थमाया। मेहमान टीम अभी इस सदमे से उबरी भी नहीं थी कि होप (28) ने जडेजा की गेंद पर स्लिप में रहाणे को कैच थमा दिया। रोस्टन चेज से बड़ी पारी की उम्मीद थी लेकिन वे सिर्फ 6 रन बनाकर उमेश की गेंद को स्टम्प्स पर खेल बैठे।डॉवरिच ने खाता भी नहीं खोला था कि उमेश ने उन्हें आउट कर पैवेलियन लौटाया।

सुनील एम्ब्रिस और जेसन होल्डर ने पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन जडेजा ने इस साझेदारी को तोड़ा। उन्होंने होल्डर (19) को विकेटकीपर पंत के हाथों झिलवाया, अंपायर ने उन्हें आउट नहीं दिया था लेकिन भारत ने रिव्यू लिया उसे इसका लाभ भी मिला। जडेजा ने एम्ब्रिस को एलबीडब्ल्यू कर मेहमानों की अंतिम उम्मीद को भी तोड़ दिया। उन्होंने 38 रन बनाए। अश्विन ने वॉरिकेन (7) को बोल्ड कर मेहमान टीम को नौवां झटका दिया। गेब्रिएल को बोल्ड कर उमेश ने इंडीज की पारी को समाप्त किया। उमेश यादव ने 45 रनों पर 4 विकेट लिए। जडेजा ने 12 रनों पर 3 और अश्विन ने 2 विकेट लिए।

भारत ने तीसरे दिन सुबद 308/4 से आगे खेलना शुरू किया। भारत के लिए तीसरे दिन का शुरुआत अच्छी नहीं रही और जेसन होल्डर ने तीन गेंदों में मेजबान टीम को दो झटके दिए। उन्होंने अजिंक्य रहाणे (80) को गली में शाई होप के हाथों झिलवाया। इसके तुरंत बाद उन्होंने पिछले मैच के शतकवीर रवींद्र जडेजा को खाता खोले बगैर पैवेलियन लौटाया। अब पंत से शतक की उम्मीद थी लेकिन वे 92 रन बनाकर गेब्रिएल की गेंद पर कवर्स पर हेटमेयर को कैच थमा बैठे। उन्होंने 134 गेंदों में 11 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 92 रन बनाए। वे राजकोट टेस्ट में भी 92 रनों पर आउट हुए थे।

कप्तान होल्डर ने कुलदीप यादव के डंडे बिखेरकर अपना पांचवां शिकार किया। वे भारत में एक टेस्ट पारी में 5 विकेट लेने वाले पांचवें कैरेबियाई गेंदबाज बने। उमेश यादव 2 रन बनाकर जॉमेल वॉरिकेन की गेंद पर स्थानापन्न विकेटकीपर हेमिल्टन को कैच थमा बैठे। इसके बाद अश्विन ने शार्दुल ठाकुर (4 नाबाद) के साथ महत्वपूर्ण रन जोड़े। अश्विन 35 रन बनाकर गेब्रिएल के शिकार बने और भारत की पारी 106.4 ओवरों में समाप्त हुई। होल्डर ने 56 रनों पर 5 विकेट लिए। गेब्रिएल ने 3 और वॉरिकेन ने 2 विकेट हासिल किए।

दूसरे दिन ऐसे गिरे भारत के विकेट

इसके पूर्व भारत की पहली पारी में केएल राहुल खुलकर नहीं खेल पा रहे थे और वे 25 गेंदों में 4 रन बनाकर जेसन होल्डर की गेंद को स्टम्प्स पर खेल बैठे। पृथ्वी की शानदार पारी का अंत वॉरिकेन ने किया, वे उनकी गेंद पर कवर्स पर हेटमेयर को कैच दे बैठे। उन्होंने मात्र 53 गेंदों में 11 चौकों और 1 छक्के की मदद से 70 रन बनाए। अभी भारत इस सदमे से उबरा भी नहीं था कि गेब्रिएल ने चेतेश्वर पुजारा (10) को विकेटकीपर हेमिल्टन के हाथों झिलवाया।

अब कप्तान विराट और उप कप्तान अजिंक्य रहाणे पर पारी को संभालने की जिम्मेदारी थी, लेकिन होल्डर ने विराट को एलबीडब्ल्यू कर मेजबान टीम को करारा झटका दिया। विराट ने रिव्यू लिया लेकिन फैसला उनके खिलाफ ही रहा। उन्होंने 78 गेंदों पर 5 चौकों की मदद से 45 रन बनाए। 162 रनों पर चौथा विकेट गंवाने के बाद रहाणे और पंत पारी को संभालने में जुटे हैं। रहाणे ने बिशू की गेंद पर एक रन लेकर फिफ्टी पूरी की। उन्होंने 122 गेंदों में 4 चौकों की मदद से फिफ्टी पूरी की। इसके बाद पंत ने बिशू की गेंद पर दो रन लेकर अर्द्धशतक पूरा किया। वे 67 गेंदों में 9 चौकों की मदद से यहां तक पहुंचे।