गुवाहाटी। राष्ट्रीय सीनियर बैडमिंटन स्पर्धा में गुरुवार को उस समय असहज स्थिति उत्पन्न हो गई जब मौजूदा चैंपियन साइना नेहवाल ने कोर्ट को खराब करार देते हुए अपना एकल मैच खेलने से इंकार कर दिया। ओलिंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु ने सुबह इसी कोर्ट पर मैच जीतकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया।

धार (मप्र) के समीर वर्मा के पुरुष एकल मैच के दौरान टखने में दर्द के कारण हटने के बाद ओलिंपिक कांस्य विजेता व पिछले साल पैर की चोट से परेशान रही साइना ने कोर्ट पर कदम रखा। साइना का प्री-क्वार्टर फाइनल में मुकाबला श्रुति मंदाना से था, लेकिन उन्होंने कोर्ट का निरीक्षण करने के तुरंत बाद स्पष्ट कर दिया कि ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप करीब है और वे इस कोर्ट पर खेलकर जोखिम नहीं उठाना चाहती हैं, इसके चलते मैच को स्थगित करना पड़ा। बैडमिंटन संघ ने साइना के अलावा पी कश्यप और बी साई प्रणीत के मैचों को स्थगित कर दिया।

इंदौर की श्रियांशी भी आगे बढ़ीं : ओलिंपिक रजत पदक विजेता सिंधू ने सुबह इसी कोर्ट पर अपना मैच खेला और माल्विका बंसोद को सीधे गेम में हराकर महिला एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। सिंधु ने यह मैच 35 मिनट में 21-11, 21-13 से जीता। सिंधु के अलावा चौथी वरीयता प्राप्त अस्मिता चालिहा, तीसरी वरीयता प्राप्त इंदौर की श्रियांशी परदेशी, रिया मुखर्जी, आकर्षि कश्यप, नेहा पंडित, वैष्णवी भाले ने भी अंतिम आठ में प्रवेश किया।

पुरुष एकल वर्ग में पूर्व चैंपियन सौरभ वर्मा, लक्ष्य सेन, कौशल धर्मामर, हर्षिल दानी, आर्यमान टंडन, बोधित जोशी क्वार्टर फाइनल में पहुंचे। पुरुष युगल वर्ग में अर्जुन एमआर-श्लोक रामचंद्रन और प्रणव जेरी चोपड़ा-चिराग शेट्टी की जोड़ियां सेमीफाइनल में पहुंची। अरूण जॉर्ज-संयम शुक्ला तथा कृष्णा प्रसाद-ध्रुव कपिला भी अंतिम चार में हैं।