बैंकॉक। भारतीय महिला तीरंदाज मुस्कान किरार और प्रोमिला दाइमारी ने महिला दिवस के मौके पर अपने देशवासियों को बड़ा तोहफा दिया है। बैंकॉक में चल रहे आर्चरी एशिया कप में इन दोनों ने दमदार प्रदर्शन करते हुए अपने-अपने वर्ग के गोल्ड मेडल जीते।

मुस्कान ने महिला कंपाउंड में जबकि प्रोमिला ने रिकर्व इवेंट का गोल्ड मेडल अपने नाम किया। मुस्कान ने मलेशिया की जकारिया नादिरा को हराकर 139-136 से कंपाउंड फाइनल में गोल्ड पर निशाना लगाया।

मुस्कान ने सिर्फ ढाई साल पहले ही तीरंदाज़ी की ट्रेनिंग लेनी शुरू की है। इस मुकाम को पाने के लिए मुस्कान ने इस बार 12वीं के इम्तिहान तक नहीं दिए थे। अगले साल वे परीक्षा देंगी। मुस्कान के पिता वीरेंद्र किरार जबलपुर में छोटी सी दुकान लगाते हैं, जबकि मां माला किरार गृहिणी हैं।

वहीं दूसरा स्वर्ण पदक जीतने वाली प्रोमिला ने रिकर्व इवेंट में रूस की एर्डिनिएवा नतालिया को 7-3 से शिकस्त देकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। मधु वेदवान और गौरव त्रांबक लैंबे ने क्रमश: महिला और पुरुष रिकर्व इवेंट के ब्रॉन्ज मेडल जीते। वेदवान ने मंगोलिया की एल्तांगेरेल को 6-5 से मात दी। लैंबे ने मलेशिया के कामरुद्दीन हाजिक को हराया।

बैंकॉक में चल रहे आर्चरी एशिया कप में अन्य भारतीयों में यश्वी उपाध्याय, दूसरी वरीयता प्राप्त दिव्या धायल और हिवराले मृणाल क्वॉर्टर फाइनल चरण में हारकर बाहर हो गए।