अस्ताना (कजाकिस्तान)। भारत की शीर्ष एकल खिलाड़ी अंकिता रैना और करमन कौर थांडी फेडरेशन कप टेनिस टूर्नामेंट विश्व समूह-2 में क्वालीफाई करने के लिए भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगी। यह टूर्नामेंट बुधवार से यहां खेला जाना है। जिसके पहले मैच में उसकी टक्कर थाईलैंड से होगी।

भारत समूह 'ए' में है, जिसमें मेजबान थाईलैंड के रूप में उसे आसान चुनौती मिली है। असल चुनौती मेजबान कजाकिस्तान है, जिसके पास शीर्ष 100 में शामिल दो एकल खिलाड़ी हैं। कजाकिस्तान की यूलिया पुतिनासेवा विश्व रैंकिंग में 43वें तो जरीना दियास 96वें स्थान पर हैं। पिछले साल दिल्ली में अंकिता ने पुतिनसेवा को हराया था लेकिन इस बार कजाक खिलाड़ी अपने देश में खेल रही है। भारतीय टीम कजाकिस्तान को हरा देती है तो प्रमोशन प्लेऑफ में चुनौती और कठिन हो जाएगी।

विजेता टीमें आमने-सामने

समूह 'ए' और 'बी' की विजेता टीम आपस में खेलेगी। जिससे तय होगा कि विश्व समूह-2 में किसे जगह मिलेगी। समूह 'बी' में चीन है, जिसके पास दुनिया की 40वें नंबर की खिलाड़ी शुआई झांग व 42वें नंबर की सेईसेई झेंग हैं। कोरिया, इंडोनेशिया और प्रशांत ओशियाना भी इसी समूह में हैं।

चीन का शीर्ष पर रहना तय

समूह 'बी' से चीन का शीर्ष पर रहना लगभग तय है जबकि समूह 'ए' में भारत व कजाकिस्तान में से कोई पहुंचेगा।

हमारे खिलाड़ी उलटफेर को बेताब

हम एक समय पर एक मैच के बारे में सोच रहे हैं। हमारी पहली चुनौती थाइलैंड को हराना है। कजाकिस्तान की टीम मजबूत है लेकिन हमारे खिलाड़ी उलटफेर करने को बेताब हैं।- विशाल उप्पल (गैर खिलाड़ी कप्तान, भारत)