वाशिंगटन। मोबाइल फोन से दूरी में भारत नंबर 1 मोबाइल फोन आज हमारी जिंदगी का अभिन्न हिस्सा बन चुका है। हम दिनभर में अपने कई काम इसी के सहारे निपटाते हैं। कई लोग तो इसकी लत के शिकार हैं और बिना फोन के उनका कुछ दिन तो क्या कुछ घंटे रहना भी मुश्किल हो जाता है।

इस बीच हैरान करने वाली बात यह है कि इन सबके बावजूद तकरीबन 35 फीसद भारतीय आज भी किसी तरह का मोबाइल फोन इस्तेमाल नहीं करते हैं। अमेरिकी शोध संस्थान प्यू रिसर्च ने हाल ही में कुछ देशों में सर्वे किया, जिसमें मोबाइल फोन से दूर आबादी वाले 15 देशों देशों में भारत शीर्ष पर है।

विश्व में यूजर्स 5 अरब

फीचर फोन 2.5 अरब

बढ़ते यूजर्स भारत में स्मार्टफोन यूजर्स की संख्या साल दर साल बढ़ती जा रही है। 2015 में भारत में 19 करोड़ स्मार्टफोन यूजर्स थे। वहीं, 2018 में 34 करोड़ लोगों के पास स्मार्टफोन था। इस साल ये आंकड़ा 37.5 करोड़ तक बढ़ने की संभावना है। छह फीसद बिना मोबाइल सूची में अंतिम 15वें स्थान पर अमेरिका है जहां महज छह फीसद लोगों के पास किसी भी प्रकार का फोन नहीं है।

यहां 13 फीसद लोगों के पास फीचर फोन तो है, लेकिन स्मार्टफोन नहीं। ब्रिटेन, जर्मनी, स्पेन और ऑस्ट्रेलिया भी सूची में शीर्ष 10 देशों से बाहर हैं।

-40 फीसद (1.3 अरब) भारतीयों के पास बेसिक फीचर फोन है, लेकिन स्मार्टफोन नहीं है।

-पिछले साल भारत में 15 करोड़ स्मार्टफोन आयात हुए थे और इस साल ये संख्या 16 करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद है।

-2018 में भारत में कुल आयात हुए स्मार्टफोन में 30 फीसद शाओमी कंपनी के फोन थे।

-वैश्विक स्मार्टफोन बाजार में भारती की हिस्सेदारी दस फीसद से अधिक की है।

-दुनिया का छठा सबसे तेजी से तरक्की करता स्मार्टफोन बाजार भारत है।