लंदन। फेसबुक इंक ने नेटफ्लिक्स और एयरबन्ब सहित कुछ कंपनियों को 2015 में यूजर डेटा तक प्राथमिकता एक्सेस दिया था। ब्रिटेन के एक वकील द्वारा जारी कंपनी के ईमेल और प्रजेंटेशन से यह जानकारी मिलती है।

2012 से 2015 के बीच फेसबुक के संस्थापक एवं प्रमुख मार्क जुकरबर्ग सहित उच्चस्तर के कर्मचारियों के बीच हुए संवाद के 223 पृष्ठ दर्शाते हैं कि सोशल मीडिया कंपनी ने किस तरह डेटा एक्सेस बेचकर राजस्व अर्जित किया था।

संसद में कंजरवेटिव सदस्य डैमिअन कालिन्स ने बुधवार को दस्तावेज सार्वजनिक किया। सिक्स4थ्री से प्रतिबंध की धमकी के तहत पिछले महीने सार्वजनिक करने की मांग की गई थी।

भंग हो चुके ऐप डेवलपर सिक्स4थ्री ने यह दस्तावेज कैलिफोर्निया स्टेट कोर्ट में चल रहे अपने मामले के तहत हासिल किया था। आरोप है कि फेसबुक ने डेवलपर के साथ किए गए वादे का उल्लंघन किया है।

फेसबुक ने सिक्स4थ्री के मामले को निराधार करार दिया है। सोशल मीडिया कंपनी ने कहा कि अतिरिक्त परिप्रेक्ष्य के बगैर जारी संवाद गुमराह करने वाला है। लेकिन कंपनी ने इसे स्पष्ट नहीं किया।