मल्टीमीडिया डेस्क। गूगल ने मंगलवार को एएमपी फॉर्मेट के लिए अपना खुद का स्टोरी फॉर्मेट लॉन्च कर दिया है। इसके बाद अब यूजर्स स्नेपचैट की तरह स्टोरीज बना सकेंगे। फिलहाल यह फीचर उन नए पब्लिकेशंस के लिए उपलब्ध है जिनके साथ गूगल ने काम किया है। इनमें कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया संस्थान हैं। गूगल ने इसे लॉन्च करते हुए कहा है कि एएमपी स्टोरीज आर्टिकल आम न्यूज और वीडियोज के मुकाबले ज्यादा तेजी से लोड होंगे। जीमेल को यह सपोर्ट साल के अंत तक मिल जाएगा।

गूगल पर इस ड्राइव को लीड करने वाले रूडी गल्फी के अनुसार मोबाइल डिवाइस पर यूजर्स ढेर सारे आर्टिकल्स ब्राउज करते हैं लेकिन कुछ के साथ ही गहराई से एंगेज हो पाते हैं। तस्वीरें, वीडियो और ग्राफिक्स, रीडर्स का ध्यान तेजी से आकर्षित करते हैं और उन्हें एंगेज रखते हैं।

जीमेल पर एएमपी सपोर्ट मिलने के बाद यूजर्स के लिए ईमेल अनुभव बदल जाएगा। यूजर्स अपने ईमेल पर मिलने वाले फ्लाइट टिकट इंफोर्मेशन ईमेल ऑटो अपडेट होते देख सकते हैं। जीमेल में एएमपी का शुरुआती वर्जन बल्क सेंडर्स के लिए होगा। रिटेलर्स, वीकली अपने ग्राहकों को ईमेल भेज सकेंगे जिसमें उन्हें किसी भी प्रोडक्ट की वर्तमान कीमत नजर आएगी फिर वो मेल कभी भी खोला गया हो।

क्या है एएमपी

यह गूगल का एक प्रोजेक्ट है जो कंटेट की बेहतर और फास्ट डिलेवरी करेगा। यह आम एचटीएमएल पेजेज की बजाय तेजी से लोड होते हैं। इसकी शुरुआत सबसे पहले स्नेपचैट ने की थी जिसे बाद में इस्टाग्राम और फिर फेसबुक ने इंस्टेंट आर्टिकल के रूप में अपनाया। इन सब के बाद अब गूगल इसे लेकर आया है।