Naidunia
    Sunday, February 25, 2018

    किसान का दर्द

    नईदुनिया 'किसान का दर्द' सीरीज में उन समस्याओं से आपको रुबरु कराएगा जो कहीं न कहीं किसान आंदोलन की वजह बन गई हैं।

    संकट में मदद नहीं समय पर सूचना नहीं, सिस्टम का मारा किसान

    संकट में मदद नहीं समय पर सूचना नहीं, सिस्टम का मारा किसान

    Sun, 18 Jun 2017 06:03 PM (IST)

    आजादी मिले 70 साल होने को आए लेकिन देश में किसानों के लिए अब तक कोई पुख्ता सिस्टम विकसित नहीं हो पाया है।

    बाजार में चलती है व्यापारी की मर्जी, किसान को नहीं मिलता समर्थन मूल्य

    बाजार में चलती है व्यापारी की मर्जी, किसान को नहीं मिलता समर्थन मूल्य

    Fri, 16 Jun 2017 08:04 PM (IST)

    प्रदेश में किसान आंदोलन की सबसे बड़ी वजह फसल के सही दाम नहीं मिल पाना है।

    मजदूर से भी कम किसान की कमाई, खेती कैसे बने लाभ का धंधा

    मजदूर से भी कम किसान की कमाई, खेती कैसे बने लाभ का धंधा

    Thu, 15 Jun 2017 08:04 PM (IST)

    यह तभी संभव होगा जब किसान को उसकी फसल का दाम लागत से ज्यादा मिलेगा।

    अब भी परंपरागत तरीकों पर निर्भर किसान, नहीं मिलती मौसम की सटीक जानकारी

    अब भी परंपरागत तरीकों पर निर्भर किसान, नहीं मिलती मौसम की सटीक जानकारी

    Wed, 14 Jun 2017 07:33 PM (IST)

    भारत में कृषि मानसून पर निर्भर करती है लिहाजा किसान की किस्मत में मौसम के मिजाज का अहम रोल होता है।

    किसान का दर्द : खेत तक नहीं पहुंचती कागजों पर सजी योजनाएं

    किसान का दर्द : खेत तक नहीं पहुंचती कागजों पर सजी योजनाएं

    Tue, 13 Jun 2017 07:27 PM (IST)

    नेताओं का भाषण हो या अफसरों की फाइलें किसानों से संबंधित योजनाओं की फेहरिस्त खासी लंबी होती है।

    फसल के भुगतान में से भी कर्ज की आधी राशि काट लेते हैं सहकारी बैंक

    फसल के भुगतान में से भी कर्ज की आधी राशि काट लेते हैं सहकारी बैंक

    Mon, 12 Jun 2017 05:30 PM (IST)

    कहने को तो सहकारी बैंक किसानों की मदद के लिए हैं लेकिन इनकी सुविधाओं का फायदा सिर्फ बड़े और सक्षम किसानों तक ही पहुंचता है।

    साहूकारों से बचाने लाया गया किसान क्रेडिट कार्ड कर्ज में उलझा रहा

    साहूकारों से बचाने लाया गया किसान क्रेडिट कार्ड कर्ज में उलझा रहा

    Mon, 12 Jun 2017 12:06 AM (IST)

    प्रदेश में छोटे बड़े सभी मिलकर कुल 70 लाख से ज्यादा किसान हैं।

    मिलती जुलती तस्वीरें