रोम। दुनिया भर में ऐसी कई खूबसूरत जगहें हैं, जहां जाने के बाद आपका दिल वहां से आने का नहीं करेगा। मगर, कुछ खूबसूरती जानलेवा भी हो सकती है। ऐसा ही एक जगह है इटली की एक झील पर 17 एकड़ में फैला आइलैंड पोवेग्लिया।

यह दुनिया की सबसे डरावनी जगह है। कहते हैं इस आइलैंड की आधी मिट्टी इंसानी हड्डियों से बनी हुई है। यह आइलैंड वेनिस और लीडो की बीच में बसा हुआ है। ये आइलैंड वेनीसिया झील के उत्तर में बसा हुआ है, जो इटली की एक प्रसिद्ध झील है।

एक छोटी सी नहर इस आइलैंड को दो भागों में बांटती है। किसी समय में यहां पागलों और मानसिक रोगियों को इलाज के लिए लाया जाता था। उन्हें यहां चरम यातनाएं दी जाती थीं। इस द्वीप पर प्लेग के शिकार लोगों को उनके अंतिम दिनों में मरने के लिए छोड़ दिया जाता था।

इसे 14वीं शताब्‍दी में बनाया गया था। नेपोलियोनिक युद्ध के दौरान ब्रिटिश सैनिकों ने फ्रैंच से बचने के लिए भी इसका उपयोग किया गया था।

कहा जाता है कि इस आइलैंड पर करीब 1.60 लाख लोगों को उनके अंतिम समय पर यहां छोड़ा गया था।

इटली के एक बिजनेसमैन लुईगी ब्रूगनारो ने इस खूबसूरत जगह को चार लाख पाउंड में 99 साल की लीज पर खरीद लिया है।

हालांकि, उन्होंने यह नहीं सोचा है कि इस जगह का फिलहाल वह क्या करेंगे। यहां की जर्जर हो चुकी इमारतों को रेनोवेट करने के लिए 16.25 मिलियन पाउंड का खर्च आएगा।

मगर, लुईगी मानते हैं कि वह इस जगह को सार्वजनिक उपयोग के लिए बनाना चाहते हैं। 1960 के दशक के बाद यहां कुछ चुनिंदा लोग ही गए हैं।