काबुल। अफगान अधिकारियों का कहना है कि देश के दक्षिणी हेलमंद प्रांत में लश्कर गाह में तालिबान से हो रही लड़ाई में एयर स्ट्राइक का फैसला अफगानिस्तान को भारी पड़ गया। गलती से उन्होंने तालिबान आतंकियों की जगह अपने ही 17 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया। एयर स्ट्राइक में 14 अन्य पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।

प्रांतीय परिषद के प्रमुख अताउल्लाह अफगान का कहना है कि हवाई हमले गुरुवार को किए गए थे। उस वक्त अफगान पुलिस शहर के पास तालिबान लड़ाकों से लड़ रही थी। उन्होंने पुष्टि की है कि स्ट्राइक में 14 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

हालांकि, यह तुरंत स्पष्ट नहीं हुआ है कि हवाई हमला अफगानिस्तान ने या अमेरिकी सेनाओं ने में से किसने किया था। काबुल में अमेरिकी सेना से इस बारे में सवाल किया गया, लेकिन वहां से भी कोई तत्काल प्रतिक्रिया नहीं मिली थी। अमेरिकी सेना नियमित रूप से जब भी कहा जाता है, अफगान सैनिकों की मदद करती है।

हेलमंड के गवर्नर मोहम्मद यासीन का कहना है कि हवाई हमले की जांच की जा रही है। वहीं, तालिबान के एक बयान में दावा किया गया था कि इस एयर स्ट्राइक के पीछे अमेरिकी सेना का हाथ था।