वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी सैलरी का एक चौथाई हिस्सा देश के लिए दान देने की घोषणा की है। राष्ट्रपति ट्रंप ने अपनी सैलरी यातायात विभाग को देश की बुनियादी सुविधाओं के विकास के लिए दान में दी है। यातायात विभाग के सचिव एलेन चाओ ने राष्ट्रपति से एक लाख डॉलर (करीब 65 लाख रुपये) का चेक ग्रहण किया।

यह धनराशि राष्ट्रपति ट्रंप की सड़क, पुल और बंदरगाहों के पुनर्निर्माण की योजना के तहत खर्च होगी। इस आशय की जानकारी व्हाइट हाउस ने दी है। राष्ट्रपति ट्रंप इससे पहले अपना वेतन स्वास्थ्य विभाग, मानव संसाधन विभाग, शिक्षा विभाग और पार्को के रखरखाव के लिए दे चुके हैं।

ट्रंप ने ढहती हुई सड़कों, पुलों और बंदरगाहों के पुनर्निर्माण की योजना का ऐलान करने के एक दिन बाद ही व्हाइट हाउस के संवाददाता कक्ष में, ट्रंप ने अपने वेतन के एक चौथाई हिस्से को दान में देने की घोषणा की।

चुनाव लड़ते समय ट्रंप ने घोषणा की थी कि वह राष्ट्रपति के पद पर रहते हुए कोई वेतन नहीं लेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति को सुविधाओं के अतिरिक्त चार लाख डॉलर (दो करोड़ साठ लाख रुपये) वेतन के रूप में नकद मिलते हैं। इस धनराशि का राष्ट्रपति को भुगतान अनिवार्य होता है। इसलिए ट्रंप यह धनराशि प्राप्त तो करते हैं लेकिन बाद में वह इसे सरकारी विभागों को सार्वजनिक कार्यो में खर्च के लिए दान कर देते हैं।