वाशिंगटन। अमेरिका की खुफिया एजेंसी सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसी (सीआईए) के एक पूर्व अधिकारी को चीन के लिए जासूसी करने के मामले में शुक्रवार को 20 साल जेल की सजा सुनाई गई। अधिकारी ने 25 हजार डॉलर (करीब 17.58 लाख रुपए) में अमेरिका की रक्षा संबंधी गोपनीय जानकारी एक चीनी खुफिया एजेंट को बेची थी।

असिस्टेंट अटॉर्नी जनरल जॉन डेमर्स ने कहा कि अमेरिका के पूर्व खुफिया अधिकारी केविन मेलोरी को राष्ट्रीय रक्षा की जानकारी एक चीनी खुफिया अधिकारी को देने के मामले में 20 साल जेल में गुजारना पड़ेगा। यह मामला किसी खतरे की घंटी से कम नहीं है, क्योंकि चीन द्वारा पूर्व खुफिया अधिकारियों को निशाना बनाया जा रहा है।

एक संघीय जूरी ने पिछले साल जून में 62 साल के मेलोरी को इस मामले में दोषी ठहराया था। कोर्ट में दाखिल दस्तावेजों के अनुसार, 2017 के मार्च और अप्रैल में मेलोरी ने चीन के शंघाई शहर का दौरा किया था। इस दौरान उसने माइकल यांग नाम के एक व्यक्ति से मुलाकात की थी।

यांग ने खुद को चीनी थिंक टैंक पीपुल्स रिपब्लिक का कर्मचारी बताया था, लेकिन मेलोरी को अंदाजा था कि वह एक चीनी खुफिया अधिकारी है। एफबीआई की जांच में यह उजागर हुआ कि मेलोरी ने कम से कम दो दस्तावेज हस्तांतरित किए थे। मेलोरी को 22 जून, 2017 को गिरफ्तार किया गया था।