वियना। ऑस्ट्रिया की सरकार ने गुरुवार को इंटरनेट यूजर्स को ऑनलाइन काऊ किसिंग चैलेंज (गाय को चूमने की चुनौती) से दूर रहने की चेतावनी दी। सरकार ने इसे खतरनाक उपद्रव करार दिया है। कास्टल नाम के एक स्विस ऐप ने बुधवार को #KuhKussChallenge (काउ किस चैलेंज) लॉन्च किया। इसके तहत स्विट्जरलैंड और अन्य जर्मन-भाषी देशों में यूजर्स को गायों को चूमने के लिए प्रोत्साहित किया गया, ताकि दान के लिए पैसे जुटाए जा सकें।

मगर, ऑस्ट्रिया की कृषि मंत्री एलिजाबेथ कोस्टिंगर ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि यह चुनौती एक खतरनाक उपद्रव है। उन्होंने कहा कि इन जैसे कार्यों के गंभीर परिणाम हो सकते हैं। गाय अपने बछड़ों की रक्षा करते हुए आक्रामक हो सकती हैं।

पर्यटकों और पशुपालकों की गतिविधियों को संतुलित करना इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था के प्रमुख आधार होने के साथ ऑस्ट्रिया के पर्वतीय क्षेत्रों में एक संवेदनशील विषय है। फरवरी में टायरॉल क्षेत्र की एक अदालत ने साल 2014 में एक किसान को चार लाख 90 हजार रुपए का मुआवजा उस व्यक्ति को देने को कहा था, जिसकी पत्नी की मौत किसान की गायों के झुंड की वजह से हुई थी। हालांकि, इस फैसले के बाद काफी हंगामा हुआ था।

किसान ने इस फैसले पर अपील की है और उसे ऑस्ट्रिया के किसान महासंघ की तरफ से सपोर्ट मिल रहा है। महासंघ ने चेतावनी दी है कि यदि यह फैसला बना रहता है, तो हमारे पहाड़ों के चरागाहों का अंत होगा। सरकार ने पहाड़ों पर जाने वाले पैदल यात्रियों और पर्वातारोहियों के लिए "आचार संहिता" प्रकाशित करके ऐसी घटनाओं को रोकने की कोशिश की है। इसमें कहा गया है कि जहां तक ​​संभव हो, गायों के झुंड से बचा जाए।