लंदन। ब्रिटेन में टेरीजा मे के जून में पद छोड़ने के लिए तैयार होने के बाद Brexit समर्थक कंजर्वेटिव नेता बोरिस जॉनसन ने प्रधानमंत्री पद के लिए दावा ठोक दिया है। प्रधानमंत्री टेरीजा ने Brexit (यूरोपीय यूनियन से अलगाव) की शर्तों से संबंधित विधेयक संसद में चर्चा के बाद इस्तीफा देने पर सहमति जता दी है। यह विधेयक चौथी बार 3 जून को संसद में पेश होगा। इससे पहले तीन बार संसद इसे अस्वीकार कर चुकी है।

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद उपजे सबसे बड़े राजनीतिक संकट में आखिरकार टेरीजा को प्रधानमंत्री पद गंवाना पड़ेगा। गुरुवार को वह इसके लिए तैयार हो गईं। तारीख तय नहीं हुई है लेकिन तीन जून के बाद वह किसी भी दिन अपने पद से इस्तीफा दे सकती हैं। भले ही Brexit की शर्तों से संबंधित विधेयक का संसद में कोई भी हश्र हो।

पीएम पद के सबसे बड़े दावेदार बनकर उभरे बोरिस जॉनसन 2016 में भी बड़े दावेदार थे लेकिन आखिरी वक्त में वह अपने समर्थन में पार्टी को एकजुट नहीं रख पाए थे। टेरीजा ने बाद में उन्हें विदेश मंत्री बनाया। लेकिन Brexit को लेकर टेरीजा की नीति से नाराज होकर जॉनसन ने जुलाई 2018 में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। वह टेरीजा के कटु आलोचक माने जाते हैं। वह बिना समझौते के भी ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन छोड़ने के समर्थक हैं।

जॉनसन लंदन के मेयर भी रहे हैं। उन्हें उनके मजाकिया व्यवहार और मनमाने बयानों के लिए जाना जाता है। उनसे जुड़े तमाम स्कैंडल और चर्चाएं ब्रिटिश मीडिया की सुर्खियां बनती रही हैं। हालांकि माना जा रहा है कि कई अन्य वरिष्ठ कंजर्वेटिव नेता भी प्रधानमंत्री पद की दावेदारी के लिए आगे आ सकते हैं।