लंदन। एक ब्रिटिश सिख महिला की झूठी आन के लिए हत्या की कहानी उसकी मौत के 20 साल बाद ब्रिटेन की टीवी स्क्रीन पर पुनर्जीवित हो गई। गुरुवार को टीवी पर एक डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई, जिसका नाम था- "द किलर इन माई फैमिली।" यह इन दिनों चर्चाओं में है।

पश्चिमी लंदन की रहने वाली सुरजीत कौर अठवाल (27) पर उसके रूढ़ीवादी ससुरालियों को शर्म आती थी। दिसंबर 1998 में परिवार के शादी समारोह में भाग लेने के बहाने उसे पंजाब लाया गया और हत्या कर दी गई।

इस मामले में सास बचन अठवाल और पति सुखदेव अठवाल को 2007 में क्रमशः 15 और 20 साल कैद की सजा सुनाई गई थी। सुखदेव के भाई की तलाकशुदा पत्नी और वारदात की चश्मदीद सरबजीत ने कहा, "बचन करीब तीन साल में बाहर आ जाएगी। उसका सिख समुदाय में स्वागत होगा। यह कल्पना भी मुझे बीमार कर देती है।"

सुरजीत और सरबजीत के संबंध बहुत अच्छे थे। उसने इस घटना पर आधारित डॉक्यूमेंट्री में साक्षात्कार भी दिया है। उसने बताया कि उनके साथ ससुराल में गुलाम जैसा व्यवहार किया जाता था।