बीजिंग। मालदीव में जारी सियासी संकट पर भारत की भूमिका को लेकर चीन बेहद गंभीर है। उसने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर भारत ने मालदीव में सैन्य हस्तक्षेप किया तो वो भी चुप नहीं बैठेगा।

खबरों के अनुसार चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स के संपादकीय में लिखा है कि मालदीव में अनाधिकृत सैन्य हस्तक्षेप रोका जाना चाहिए। इसमें लिखा है कि अगर भारत, मालदीव में एकतरफा सैना भेजता है तो चीन, नई दिल्ली को रोकने के लिए कदम उठाएगा। सैन्य हस्तक्षेप पर चीन के विरोध को भारत द्वारा नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

खबरों के अनुसार अखबार ने यह संपादकीय 'माले में अवैध सैन्य हस्तक्षेप रोका जाना चाहिए' शिर्षक के साथ लिखा है। इसके लेखक एई जुन हैं। इसकी शुरुआत में लिखा है कि जहां मालदीव आपातकाल की स्थिति में है वहीं इसके पड़ोसी देश सार्वजनिक रूप से इस बात पर चर्चा कर रहा है कि वहां के घरेलू में मामले में दखल दें या नहीं, भारत को इससे बचना चाहिए। यह मालदीव का आंतरिक मामला है और चीन किसी बाहरी हस्तक्षेप का कड़ा विरोध करता है। इससे आगे अगर भारत सैन्य हस्तक्षेप करता है कि चीन उसे रोकेगा।'