सैन फ्रांसिस्को। आप ये जानकर हैरान रह जाएंगे कि सालों से जितनी भी आप ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं गूगल कंपनी चुपचाप उसका रिकॉर्ड रख रही है। यही वजह है कि आप जो भी खरीदारी करते हैं, उसकी रसीद आपको आपके पर्सनल जीमेल एकाउंट में पहुंच जाती है। सीएनबीसी ने अपनी रिपोर्ट में शुक्रवार को कहा है कि Gmail पर यह सूचना User को एक निजी Web tool के जरिए दी जाती है। इस tool के लिए कंपनी का दावा है कि वह आपका डाटा अपने तक ही रखती है। इस सूचना को वह व्यक्तिगत विज्ञापन दिखाने के लिए ट्रैकिंग में इस्तेमाल नहीं करती है।

उल्लेखनीय है कि दो साल पहले साल 2017 में टेक जायंट कंपनी Google ने वादा किया था कि वह अब से Gmail के जरिए मिले डाटा को निजी विज्ञापन दिखाने के लिए इस्तेमाल करना बंद कर देगी। लेकिन अब गूगल ने एक बयान जारी करके कहा है कि वह आपकी खरीदारी, बुकिंग और सब्सक्रिप्शन को ट्रैक करने की सुविधा प्रदान करने के लिए वह इसे एक निजी स्थान पर सुरक्षित रखता है, जहां केवल आप ही उसे देख सकते हैं। आप इस जानकारी को कभी भी डिलीट कर सकते हैं।

इसी के साथ Google ने दोहराया कि हम आपके Gmail संदेश के जरिए मिली किसी भी सूचना को विज्ञापन दिखाने में इस्तेमाल नहीं करते हैं। इसमें ईमेल से मिली आपकी रसीद और खरीद पेज पर कंफर्मेशन की सूचना शामिल है।

गूगल ने साथ ही ये भी कहा कि उसे नहीं पता कि यह tool कब से एक्टिव है। कंपनी ने 14 मई को कहा था कि वह विज्ञापनों को मोबाइल ऐप में आपके होम पेज पर अब नहीं दर्शाएगा। विज्ञापन केवल होमपेज के डिस्कवर सेक्शन में ही न्यूज फीड ले-आउट में नजर आएंगे। विज्ञापनों को एक खास किस्म के एल्गोरिदम के जरिए आपके लिए तैयार किया जाएगा। कंपनी गैलेरी एड के तहत सर्च रिजल्ट में आठ तस्वीरें दिखाएगी। विज्ञापन गूगल शॉपिंग के होमपेज पर भी नजर आएंगे। User इसे पर्सनलाइज्ड भी कर सकेगा।