हांग कांग। चीन ने 'सोशल क्रेडिट सिस्टम' वेबसाइट से हांग कांग, मकाऊ और ताइवान को हटा दिया गया है।2014 में घोषित की गई इस प्रणाली का उद्देश्य इस विचार को मजबूत करना है कि 'भरोसा रखना शानदार और विश्र्वास को तोड़ना घृणित है।' साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार की रिपोर्ट के अनुसार शनिवार देर रात अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किए गए एक संदेश में, संवैधानिक और मुख्यभूमि मामलों के सचिव पैट्रिक निप तक-कुएन ने कहा कि हांगकांग, मकाऊ और ताइवान को राष्ट्रीय सार्वजनिक विश्र्वसनीयता सूचना द्वारा संचालित 'क्रेडिट चाइना' वेबसाइट से हटा दिया गया था।

साइट व्यवस्थापक और शहर की सरकार के बीच बातचीत के बाद यह कदम उठाया गया है। नौ जुलाई को, ताइवान के कुछ समाचार पत्रों और हांग कांग के ऑनलाइन प्लेटफार्म ने दावा किया कि ताइवान में सामाजिक क्रेडिट प्रणाली लागू की जाएगी। निप ने उसी दिन इस दावे का खंडन किया था। हांग कांग सरकार के एक सूत्र ने कहा, 'हांग कांग, मकाऊ और ताइवान के नाम को वेबसाइट से हटाने का मकसद इस भ्रांति को दूर करना है कि सोशल क्रेडिट सिस्टम को हांग कांग में लागू किया जाएगा।'

सूत्रों ने कहा कि पूर्णता के लिए वेबसाइट में पहले चीन के मुख्य प्रांतों के साथ ही हांग कांग, मकाऊ और ताइवान के नाम को शामिल किया गया था, हालांकि कोई लिंक एम्बेडेड नहीं थे। संभावित कार्यान्वयन को अफवाहें शायद इसलिए पैदा हुईं क्योंकि वृहद खाड़ी क्षेत्र के विकास के लिए 2018 से 2020 तक की तीन साल की कार्ययोजना में इस सिस्टम को शामिल किया गया था। इसके तहत चीन सरकार की हांग कांग, मकाऊ और गुआंग्डोंग प्रांत के नौ शहरों को एकीकृत आर्थिक क्षेत्र में बदलने की योजना है।

सरकार की योजना अगले वर्ष तक सभी नागरिकों को उनके 'सोशल क्रेडिट' के आधार पर रैंक करने की है। इस, सिस्टम का मकसद एक समाजवादी सर्वसत्तावादी नेतृत्व में पूरा भरोसा पैदा करने के अलावा बाजार के खिलाड़ियों और समुदायों के बीच नैतिकता और भरोसे का विकास करना भी है। इस सिस्टम में यह व्यवस्था है कि अगर कोई शख्स हॉर्न बजाता है, कर्ज या कर नहीं चुकाता, या फिर ड्राइविंग के तौर-तरीकों पर अमल नहीं करता, धोखाधड़ी करता है, तो उसे 'ग़ैरभरोसेमंद' व्यवहार के लिए ब्लैकलिस्ट किया जा सकता है। दंड के रूप में उस पर सार्वजनिक परिवहन टिकट खरीदने या होटल में कमरा बुक करने पर पाबंदी लगाई जा सकती है।