वाशिंगटन। अमेरिका के आंतरिक चुनावों को विदेशी हस्तक्षेप से बचाने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं। इसके मुताबिक चुनावों में हस्तक्षेप करने वाले देशों और अन्य निकायों पर प्रतिबंध लगाए जा सकेंगे।

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने पत्रकारों को बताया कि विदेश और वित्त विभाग ही इस मामले में उचित प्रतिबंधों की सिफारिश करेंगे और उन्हें लागू करेंगे। इन प्रतिबंधों में संपत्तियों को फ्रीज करना, अमेरिकी वित्तीय संस्थाओं तक पहुंच सीमित करना और आरोपित कंपनियों में अमेरिकी नागरिकों के निवेश को प्रतिबंधित करना शामिल है।

अमेरिकी नेशनल इंटेलीजेंस के निदेशक डेन कोट्स ने कहा, 'कांग्रेस के छह नवंबर को होने वाले चुनावों में हमें न सिर्फ रूसी हस्तक्षेप के संकेत मिले हैं बल्कि चीन, ईरान और यहां तक कि उत्तर कोरिया भी हस्तक्षेप कर रहे हैं।'