कनाडा। अच्छी नींद और अच्छी याददाश्त(Memory) के बीच संबंध के बारे में वैज्ञानिक कई दशकों से जानते हैं, लेकिन इस बात को लेकर स्थिति बहुत स्पष्ट नहीं है कि यह होता कैसे है। ताजा रिसर्च में वैज्ञानिकों को इस बात को समझने की दिशा में बड़ी सफलता मिली है। कनाडा की कॉनकॉर्डिया यूनिवर्सिटी और बेल्जियम की यूनिवर्सिटी ऑफ लीग ने इस बात की स्टडी की कि कैसे पढ़ने के बाद हमारा दिमाग सूचनाओं को संग्रहित करता है।

वैज्ञानिकों ने बताया कि नींद के समय दिमाग में कुछ तरंगें संचालित होती हैं। इन्हीं में से तरंगों के एक तरह को स्पिंडल्स कहा जाता है। ये तरंगें गहरी नींद से पहले के चरण में पैदा होती हैं।

वैज्ञानिकों का अनुमान है कि पढ़ी हुई बातों को दिमाग में संग्रहित करने में इन तरंगों की सकारात्मक भूमिका रहती है। नींद और मेमोरी के संबंध को पूरी तरह समझने से इनसे जुड़ी बीमारियों के इलाज का नया रास्ता मिल सकता है।