नई दिल्ली। ब्रिटिश सांसद लॉर्ड अलेक्जेंडर कार्लिले ने कहा कि बांग्लादेश सरकार के दबाव में उन्हें भारत में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई। ब्रिटिश सांसद जेल में बंद बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया के कानूनी सलाहकार हैं। उन्हें बुधवार की रात भारत में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई थी। भारत ने उनके वीजा को उपयुक्त नहीं माना था।

कार्लिले ने आरोप लगाया कि बांग्लादेश सरकार की ओर से उन्हें भारत में प्रवेश करने से रोकने के लिए असामान्य राजनीतिक दबाव डाला गया था। ब्रिटेन के हाउस ऑफ लार्ड के सदस्य ने कहा कि बांग्लादेश सरकार ने ढाका में भारत के उच्चायुक्त को तलब कर उनसे अपनी सरकार से भारत में उन्हें प्रवेश करने से रोकने के लिए कहा। भारत सरकार ने ऐसा कर उन्हें शर्मिंदा किया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बुधवार को कहा था कि ब्रिटिश सांसद उपयुक्त भारतीय वीजा के बगैर यहां पहुंचे हैं। भारत में उनकी गतिविधि वीजा आवेदन के अनुरूप नहीं होने से उन्हें यहां कदम रखने की अनुमति नहीं दी गई।