तेल अवीव। पूरी दुनिया में इजरायल के खिलाफ फलस्तीन के विरोध का प्रतीक बन चुकी किशोरी अहद तमीमी के खिलाफ इजरायल की सैन्य अदालत में मुकदमा चलेगा। तमीमी पर पिछले साल दिसंबर में इजरायल के दो सैनिकों को थप्पड़ और घूंसे मारने का आरोप है। तमीमी के खिलाफ केस दर्ज करने पर इजरायल को दुनियाभर में कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी है।

इजरायल ने सैनिकों से मारपीट को उकसावे वाली कार्रवाई बताते हुए तमीमी के आचरण को आपराधिक माना है। इसके लिए तमीमी को सालों जेल के अंदर गुजारने पड़ सकते हैं। तमीमी के पिता ने कहा कि वह जल्द ही अदालत का रुख करेंगे लेकिन उन्हें कोर्ट से ज्यादा उम्मीद नहीं है क्योंकि वह सैन्य अदालत है। गौरतलब है कि 1967 में इजरायल ने अरब देशों के साथ कई दिन चले युद्ध में पूर्वी यरुशलम सहित वेस्ट बैंक और गाजा पट्टी पर कब्जा जमा लिया था। तब से ये दोनों क्षेत्र इजरायल के अधिकार क्षेत्र में हैं।