लाहौर। मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड जमात-उद-दावा के चीफ हाफिज़ सईद के साले को पाकिस्तान सरकार की आलोचना करने और भड़काऊ भाषण देने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। बुधवार को पाकिस्तान पुलिस ने इसकी जानकारी दी।

जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक मंत्रालय के एक अंदरुनी सूत्र से मिली जानकारी के मुताबिक हाफिज सईद के साले अब्दुल रहमान मक्की जो कि जेयूडी के राजनीतिक और अंतर्राष्ट्रीय मामलों की विंग का हेड और फलाह-ए-इंसानियत संस्था का इंचार्ज है। सरकार द्वारा गैरकानूनी संगठनों के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम के दौरान मक्की को गिरफ्तार किया है।

पंजाब पुलिस के मुताबिक मक्की को मैंटेनेंस ऑफ पब्लिक ऑर्डर एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक सरकार द्वारा फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) गाइडलाइन्स के तहत उठाए गए कदमों को लेकर मक्की द्वारा इसकी आलोचना की गई थी।

यूएस के ट्रेजरी विभाग ने हाफिज सईद को साल 2012 से ग्लोबल आतंकी घोषित कर रखा है। उस पर सरकार ने 10 मिलियन डॉलर का इनाम भी रखा है।

इस साल फरवरी में आतंकियों की फंडिंग पर नजर रखने वाली संस्था FATF ने पाकिस्तान को आतंकी संगठनों जैश ए मोहम्मद, लश्कर ए तैयबा और जेयूडी की फंडिंग रोकने में नाकाम होने पर 'ग्रे' लिस्ट में डाल दिया है।

इसके बाद पाकिस्तान सरकार द्वारा नेशनल एक्शन प्लान 2015 के तहत देश की धरती से आतंकवाद और चरमपंथ को खत्म करने के लिए गैरकानूनी संगठनों पर नकेल कसने के लिए अभियान शुरू किया है।

इमरान खान सरकार ने UNSC द्वारा बैन संस्थाओं के अकाउंट्स को फ्रीज करने के भी निर्देश दिए हैं। शनिवार को सरकार ने जेयूडी, एफआईएफ और जैश से जुड़े 11 संगठनों को बैन कर दिया है।

बता दें कि 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि इस्लामाबाद पाकिस्तान की धरती पर किसी भी तरह के आतंकवाद को नहीं बख्शेगा।