इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि अमेरिका में 9/11 हमले के बाद 'इस्लामोफोबिया' (इस्लाम के खिलाफ नफरत) में इजाफा न्यूजीलैंड में दो मस्जिदों पर हुए हमले के लिए जिम्मेदार है।

न्यूजीलैंड में मस्जिदों पर आतंकवादी हमले की 'कड़ी निंदा' करते हुए शुक्रवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट किया, 'यह उसी बात को दोहराता है जो हम हमेशा कहते हैं कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। पीड़ितों और उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं।'

खान ने कहा कि 9/11 हमले के बाद इस्लाम के खिलाफ नफरत की भावना बढ़ना आतंकवाद के इस कृत्य के लिए जिम्मेदार है और मुसलमानों को जान-बूझकर खलनायक बनाया गया है। उन्होंने कहा,'मैं 9/11 के बाद इस्लाम के खिलाफ नफरत की भावना बढ़ने को इन आतंकवादी हमलों के लिए जिम्मेदार ठहराता हूं।

अमेरिका में हुए 9/11 हमले के बाद इस्लाम और 1.3 अरब मुसलमानों को किसी भी मुसलमान के किए आतंकवाद के किसी भी कृत्य के लिए जिम्मेदार ठहराया गया। मुसलमानों के वैध राजनीतिक संघर्ष को नकारात्मक दिखाने के लिए भी जान-बूझकर यह किया गया।' पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी कड़े शब्दों में इस हमले की निंदा की। उन्होंने 'नृशंस हमले में निर्दोष लोगों की मौत पर दुख जताया।'