इस्लामाबाद। पाकिस्तान के एबटाबाद के पास पहाड़ी इलाके में बुधवार को एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हादसे में सभी 48 सवारों की मौत हो गई। मृतकों में पॉप गायक से इस्लामी प्रचारक बने जुनैद जमशेद भी शामिल हैं।

दुर्घटनाग्रस्त हुआ पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) का विमान पीके-661 खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के चित्राल से इस्लामाबाद जा रहा था। इसी दौरान हवेलियां आयुध कारखाने के निकट साधा बतोलनी गांव में जमीन पर आ गिरा।

विमान ने चित्राल से दोपहर साढ़े तीन बजे के करीब उड़ान भरी थी और चार बजकर 40 मिनट पर इसे इस्लामाबाद के बेनजीर भुट्टो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरना था। पीआईए के एक प्रवक्ता ने बताया कि रडार से गायब होने से पहले विमान के पायलट ने ट्रैफिक कंट्रोल को संकट की सूचना दी थी।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार इंजन में गड़बड़ी के कारण यह हादसा हुआ। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन केंद्र के वरिष्ठ अधिकारी आबिद अली ने बचाया कि बचाव के काम में छह हेलीकॉप्टर लगाए गए हैं। किसी की जीवित बचे होने की उम्मीद नहीं है। बरामद सभी शव बुरी तरह जले हुए हैं। चश्मदीदों के अनुसार जमीन पर गिरने से पहले विमान में आग लग गई थी।

दिल-दिल पाकिस्तान से मिली थी लोकप्रियता

पॉप गायक से इस्लामी उपदेशक बने 52 वर्षीय जुनैद जमशेद चित्राल से 10 दिन की धार्मिक यात्रा पूरी करके लौट रहे थे। जमशेद को अस्सी के दशक में "दिल, दिल पाकिस्तान" गाने ने बेशुमार लोकप्रियता दिलाई थी। अपने आखिरी ट्वीट में जमशेद ने चित्राल को धरती का जन्नत बताया था।

बाल-बाल बचे सईद अनवर

पाकिस्तान के पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर सईद अनवर हादसे में बाल-बाल बच गए। उनके परिवार के एक सदस्य ने बताया कि इसी विमान से उन्हें चित्राल से लौटना था। लेकिन, अंतिम क्षणों में उन्होंने अपनी यात्रा रद कर दी थी।

जानलेवा हादसे

- 1979 में पीआईए का विमान जेद्दा जाते वक्त हादसे का शिकार हुआ, 156 की मौत।

- 1992 में काठमांडू जाते वक्त दुर्घटनाग्रस्त हुआ पीआईए का विमान, 167 की मौत।

- 2006 में मुल्तान के पास हुए विमान हादसे में 45 लोगों की गई जान।

- जुलाई 2010 में कराची से इस्लामाबाद जा रहा विमान दुर्घटनाग्रस्त, 152 की मौत।

- 2012 में इस्लामाबाद में उतरने से पहले भोजा एयरलाइन का विमान गिरा, 127 मरे।

इस्लामी प्रचारक बन गया था जुनैद

हादसे के शिकार जुनैद जमशेद गायकी छोड़कर इस्लामी प्रचारक बन गया था। जुनैद के भाई ने बताया कि वह धार्मिक तकरीर के लिए चितराल गया था।

घटनास्‍थल की तस्‍वीरें